scorecardresearch
 

वन विभाग और गांववालों की लापरवाही से मादा तेंदुए ने गंवाई जान

सिंदखेड राजा तहसील में किसानों ने फसलों को जंगली जानवरों से बचाने के लिए जाल बिछाया था. शनिवार की सुबह गांव के लोगों ने जाल में फंसे एक तेंदुए के दहाड़ने की आवाज सुनी. 4 साल के इस मादा तेंदुए को दर्द में तड़पता देखकर वन विभाग को इत्तला दी गई.

X
बेरहमी ने ली तेंदुए की जान बेरहमी ने ली तेंदुए की जान

महाराष्ट्र के बुलढाणा जिले में गांववालों और वन विभाग की लापरवाही के चलते एक तेंदुए की मौत हो गई.

जाल में फंसी मादा तेंदुआ
सिंदखेड राजा तहसील में किसानों ने फसलों को जंगली जानवरों से बचाने के लिए जाल बिछाया था. शनिवार की सुबह गांव के लोगों ने जाल में फंसे एक तेंदुए के दहाड़ने की आवाज सुनी. 4 साल के इस मादा तेंदुए को दर्द में तड़पता देखकर वन विभाग को इत्तला दी गई.

वन विभाग की लापरवाही
लेकिन कुछ गांववालों ने इस तेंदुए पर डंडे और पत्थरों से हमला कर दिया. एक जिम्मेदार नागरिक के दखल के बाद ये हमला रुका. लेकिन वन विभाग के कर्मचारी वक्त पर नहीं पहुंचे. आखिरकार तेंदुए को जाल से निकाला गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी. फिलहाल लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें