scorecardresearch
 

शरद पवार की मीटिंग में नहीं पहुंचे छगन भुजबल, सियासी गलियारों में अटकलें

छगन भुजबल के इस कदम से महाराष्ट्र के सियासी गलियारों में एक बार फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है. इस बात की अफवाहें उड़ रही हैं कि क्या छगन भुजबल चुनाव से पहले शरद पवार का साथ छोड़ सकते हैं?

छगन भुजबल की फाइल फोटो छगन भुजबल की फाइल फोटो

  • अटकलें तेज हो गई हैं कि क्या भुजबल एनसीपी छोड़ किसी अन्य पार्टी में जाएंगे
  • अभी हाल में एनसीपी के पूर्व सांसद उदयनराजे भोसले ने बीजेपी ज्वाइन की थी
  • महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव होने हैं, इसे देखते हुए एनसीपी के लिए यह झटका है

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के वरिष्ठ नेता छगन भुजबल बागी रुख अख्तियार कर चुके हैं. शरद पवार ने महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सोमवार को एक बड़ी मीटिंग की. इस मीटिंग में पार्टी के सभी बड़े नेता पहुंचे लेकिन छगन भुजबल बैठक से गायब रहे. छगन भुजबल के इस कदम से महाराष्ट्र के सियासी गलियारों में एक बार फिर चर्चाओं का दौर शुरू हो गया. इस बात की अफवाहें उड़ रही हैं कि क्या छगन भुजबल चुनाव से पहले शरद पवार का साथ छोड़ सकते हैं?

अभी हाल में एनसीपी के पूर्व सांसद उदयनराजे भोसले भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में शामिल हो गए. दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की मौजूदगी में उदयनराजे भोसले ने बीजेपी की प्राथमिक सदस्यता ली. भोसले ने बीते शुक्रवार को लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था.

उदयनराजे के इस फैसले से महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव से पहले शरद पवार को बड़ा झटका लगा है. छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज से ताल्लुक रखने वाले उदयनराजे ने टि्वटर के जरिए घोषणा की थी कि वे बीजेपी में शामिल होने जा रहे हैं.

एनसीपी से नाता तोड़ने से मात्र 48 घंटे पहले उदयनराजे ने एनसीपी चीफ शरद पवार से मुलाकात की थी. वहीं उदयनराजे भोसले के इस्तीफे के फैसले पर राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने कहा है कि एनसीपी एक बार फिर से सतारा लोक सभा सीट जीतेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें