scorecardresearch
 

महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री बोले- राज्य में जल्द लगेगा लॉकडाउन, लोग परेशान न हों, इसकी कर रहे तैयारी

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच महाराष्ट्र में लॉकडाउन का खतरा बरकरार है.इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मुख्यमंत्री से मीटिंग के बाद पत्रकार परिषद में बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना महामारी को देखते हुए जल्द ही लॉकडाउन लगाया जाएगा.

महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगाने की तैयारी महाराष्ट्र में लॉकडाउन लगाने की तैयारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महाराष्ट्र में लॉकडाउन को लेकर आहट
  • बीजेपी ने किया है संपूर्ण लॉकडाउन का विरोध
  • एनसीपी ने बीजेपी पर साधा निशाना

कोरोना के बढ़ते प्रकोप के बीच महाराष्ट्र में लॉकडाउन का खतरा बरकरार है.इस बीच महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने मुख्यमंत्री से मीटिंग के बाद पत्रकार परिषद में बताया कि महाराष्ट्र में कोरोना महामारी को देखते हुए जल्द ही लॉकडाउन लगाया जाएगा और उसकी तैयारी अभी जारी है. लॉकडाउन पर अंतिम निर्णय राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे लेंगे. लॉकडाउन में गरीबों को परेशानी ना हो इसके लिए भी सरकार उपाय कर रही है. राजेश टोपे ने बताया है कि 10वीं और 12वीं के एग्जाम आगे बढ़ाए गए हैं.

राज्य में लॉकडाउन लगाने को लेकर राजनीतिक घमासान चल रहा है. भारतीय जनता पार्टी समेत अन्य विपक्ष की पार्टियां राज्य में संपूर्ण लॉकडाउन का विरोध कर रही हैं. बयानबाजी के बीच अब राज्य सरकार में मंत्री नवाब मलिक ने जवाब दिया है. 

महाराष्ट्र सरकार में कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब देशभर में लॉकडाउन लगाया, तब उन्होंने किसी की सलाह नहीं ली और ना ही किसी के खाते में पैसे भेजे. ऐसे में बीजेपी को इस तरह के सवाल खड़े करने का अधिकार ही नहीं है. सिर्फ राजनीति के लिए इस तरह की मांग रखना ठीक नहीं है. 

नवाब मलिक ने कहा कि राज्य में लॉकडाउन लगेगा या नहीं, इस पर आज ही लंबे मंथन के बाद फैसला लिया जाएगा. राज्य सरकार लोगों के हित में ही फैसला लेगी, ताकि लोगों की जान भी बचे और रोजी-रोटी पर भी कोई आंच नहीं आए. 

बता दें कि महाराष्ट्र में बेकाबू होती कोरोना की रफ्तार के बीच लॉकडाउन की तलवार लटकी है. प्रदेश में कोविड मामले से जुड़ी टास्क फोर्स ने कम से कम 14 दिनों का लॉकडाउन लगाने की अपील की है. जिसपर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को फैसला लेना है.

लॉकडाउन की आहट के बीच बीजेपी ने इसका विरोध किया है. बीजेपी का कहना है कि इससे अर्थव्यवस्था को नुकसान होगा. बीजेपी ने मांग की है कि गरीब लोगों को प्रदेश सरकार की ओर से आर्थिक मदद दी जानी चाहिए, अगर लॉकडाउन लगाने का फैसला लिया जा रहा है तो. अब ऐसी ही मांग को लेकर बीजेपी और राज्य सरकार में जंग चल रही है.

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में हर दिन पचास हजार से अधिक कोरोना के केस आ रहे हैं. बीते दिन ये आंकड़ा 63 हजार पर पहुंच गया था. ऐसे में राज्य के कई हिस्सों में बेड्स की कमी, टेस्टिंग, वैक्सीनेशन को लेकर दिक्कतें आ रही हैं और हर दिन केस बढ़ते जा रहे हैं. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें