scorecardresearch
 

MP: फिर बोलीं उमा भारती, 'मध्य प्रदेश में शराबबंदी करवा कर रहूंगी'

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने एक बार फिर मध्य प्रदेश में शराबबंदी के समर्थन करते हुए ऐलान किया है कि वह शराबबंदी करवा कर रहेंगी. उमा भारती ने कहा है कि वो प्रदेश में शराबबंदी के लिए मुहिम चलाएंगी.

बीजेपी नेता उमा भारती बीजेपी नेता उमा भारती
स्टोरी हाइलाइट्स
  • उमा भारती की मांग- शराबबंदी लागू हो
  • पहले भी कर चुकी हैं मांग

देश के कई राज्यों में शराबबंदी को लेकर खूब राजनीति होती है. बिहार जैसे राज्यों ने अगर इस नीति को लागू कर रखा है तो कुछ राज्य लागू करने की तैयारी कर रहे हैं. लंबे समय से मध्य प्रदेश में भी शराबबंदी पर चर्चा चल रही है. ये चर्चा कर रही हैं बीजेपी नेता उमा भारती जिन्होंने फिर इस मुद्दे को राजनीतिक गलियारों में उठा दिया है.

उमा भारती की मांग- शराबबंदी लागू हो

मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने एक बार फिर मध्य प्रदेश में शराबबंदी के समर्थन करते हुए ऐलान किया है कि वह शराबबंदी करवा कर रहेंगी. उमा भारती ने कहा है कि वो प्रदेश में शराबबंदी के लिए मुहिम चलाएंगी.  15 जनवरी के बाद से उनके नेतृत्व में शराबबंदी का अभियान चलाया जाएगा. इस अभियान में सरकार का भी सहयोग मांगा जाएगा.

उमा भारती ने कहा कि उनके पास शराबबंदी का फॉर्मूला है जिसे वह मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा से साझा करेंगी. आपको बता दें कि इससे पहले भी उमा भारती मध्य प्रदेश में शराबबंदी की मांग कर चुकी हैं और पहले भी उन्होंने राज्य में शराबबंदी के लिए अभियान शुरू करने की बात कही थी. हालांकि तब मुख्यमंत्री से बात करने के बाद उन्होंने कदम वापस ले लिए थे. उमा भारती ने 2 फ़रवरी को ट्वीट किया था कि 8 मार्च को महिला दिवस से मध्य प्रदेश में नशामुक्ति अभियान शुरु करेंगी. बाद में उमा भारती बैकफुट पर आ गई थीं. लेकिन अब एक बार फिर से उन्होंने शराबबंदी पर बयान देकर सूबे की सियासत को गरमा दिया है.

अभी तक सीएम शिवराज सिंह चौहान या फिर राज्य सरकार के किसी मंत्री ने उमा भारती की इस मांग पर प्रतिक्रिया नहीं दी है. ऐसे में उमा जरूर मांग कर रही हैं, लेकिन सरकार ने अपनी नीति स्पष्ट नहीं की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें