scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश में अब मुख्यमंत्री नहीं, अधिकारी करेंगे योजनाओं की घोषणाएं: कमलनाथ

मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार छिंदवाड़ा पहुंचे कमलनाथ ने रोड शो किया. जिसके बाद जनता का अभिवादन करने के लिए एक जनसभा को संबोधित किया.

मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो-Twitter/@OfficeOfKNath) मुख्यमंत्री कमलनाथ (फोटो-Twitter/@OfficeOfKNath)

मध्य प्रदेश में नई सरकार के शपथ लेते ही काम काज के तरीकों में भी परिवर्तन होता दिख रह है. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आदेश दिया है कि अब प्रदेश में कोई भी घोषणा मुख्यमंत्री नहीं करेंगे, बल्कि उस विभाग से जुड़ा अधिकारी करेगा जिसके अंतर्गत यह कार्य होना है और जिसकी जिम्मदारी कार्य पूरा करने की होगी. छिंडवाड़ा में ऐसा पहली बार हुआ जब मुख्यमंत्री की मौजूदगी में किसी मंत्री ने नहीं बल्कि जिला कलेक्टर ने मंच से विकास परियोजनाओं की घोषणाएं कीं.  

कलेक्टर ने की घोषणा

सरकार बनने के बाद पहली बार अपने गृह क्षेत्र छिंदवाड़ा पहुंचे मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि मध्य प्रदेश में अब कोई भी घोषणा मुख्यमंत्री नहीं करेंगे. इस मौके कमलनाथ ने छिंदवाड़ा के कलेक्टर के जरिए मंच से घोषणाएं भी करवाईं. छिंदवाड़ा के कलेक्टर ने बताया कि जिले में कृषि महाविद्यालय खोला जाएगा और 1 मार्च 2019 से छिंदवाड़ा शहर के लिए प्रतिदिन पानी की सप्लाई शुरू हो जाएगी. इसी के साथ छिंदवाड़ा में 8 किलोमीटर की लंबाई की सड़क को चौड़ा किया जाएगा और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भवन का निर्माण किया जाएगा. कमलनाथ ने कहा कि अब छिंदवाड़ा की जनता ही मंत्री है.

कमलनाथ का पीएम पर तंज

मुख्यमंत्री कमलनाथ ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज करते हुए कहा कि वे चुनावों के दौरान छिंदवाड़ा आए थें. लेकिन उन्होंने किसानों और नौजवानों की बात नहीं की. सिर्फ कमलनाथ की आलोचना की. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री को छिंदवाड़ा की जनता को जवाब दिया इसीलिए छिंदवाड़ा की सभी सीट कांग्रेस जीती. कमलनाथ ने कहा कि पीएम मोदी का मुंह बहुत चलता है लेकिन जनता बहुत समझदार है जो स्वागत तो करती है और बड़े अच्छे से विदा भी करती है.

युवाओं पर विशेष नजर

कमलनाथ ने कहा कि युवाओं ने वो छिंदवाड़ा नहीं देखा जब ट्रेन नही थी, सड़के नहीं थी. पहले पातालकोट के लोग जो धोती पहनते थे आज जीन्स पहनते हैं. 40 सालों में लोगों ने छिंदवाड़ा को बदलते देखा है. लेकिन अब जिम्मेदारी सिर्फ छिंदवाड़ा की नही बल्कि पूरे प्रदेश की है. उन्होंने कहा कि आज का नौजवान जो इंटरनेट से जुड़ा है उसकी अपनी सोच है, तड़प है जो ठेके या कमीशन के लिए नही है. छिंदवाड़ा के नौजवानों का मुझपर बोझ था आज यहां जितने स्किल डेवलपमेंट सेंटर हैं वो देश दुनिया मे कहीं नही हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×