scorecardresearch
 

शिवराज की मंत्री का बयान, 'यज्ञ में आहुति डालने से देश को नहीं छू सकेगी कोरोना की तीसरी लहर'

मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कह दिया है कि यज्ञ में आहुति देने से कोरोना की तीसरी लहर का भारत पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (ANI फोटो) पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर (ANI फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शिवराज की मंत्री का अजीबोगरीब बयान
  • उषा ठाकुर के बयान पर बवाल
  • कोरोना को लेकर कई अफवाह

कोरोना की दूसरी लहर से भारत त्रस्त है और जगह-जगह तबाही के मंजर देखने को मिल रहे हैं. इस बीच अब कोरोना की तीसरी लहर को लेकर भी चर्चे तेज हो गए हैं. दावा किया जा रहा है कि तीसरी लहर बच्चों और युवा को अपना शिकार बना सकती है. ऐसे में सीएम शिवराज चौहान की सरकार में पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर की तरफ कोरोना की तीसरी लहर को हराने के लिए अजीबोगरीब समाधान दे दिया गया है.

शिवराज की मंत्री का अजीबोगरीब बयान

मंत्री ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कह दिया है कि यज्ञ में आहुति देने से कोरोना की तीसरी लहर का भारत पर कोई असर नहीं पड़ेगा. बयान मे कहा गया- तीसरी लहर के लिए हम जागृत हैं. बताया जा रहा है कि तीसरी लहर बच्चों पर असर डालेगी, उसके लिए हम ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. मुझे भरोसा है कि इस तीसरी लहर से भी हम निपट लेंगे. आप सब से प्रार्थना करती हूं कि पर्यावरण की शुद्धि के लिए सुबह 10 बजे सब एक साथ आहुतियां डालें क्योंकि महामारी के नाश में अनादि काल से यज्ञ परंपरा को अपनाया गया है. यह यज्ञ चिकित्सा है, धर्मांधता नहीं है. हम सब दो-दो आहुतियां डालें और अपने हिस्से का पर्यावरण शुद्ध करें, तीसरी लहर हिंदुस्तान को छू नहीं पाएगी.

कोरोना को लेकर कई अफवाह

वैसे शिवराज की ये मंत्री इससे पहले भी ऐसे ही बयानों की वजह से विवाद में भी फंसी हैं और उनका सुर्खियों में आने का सिलसिला भी जारी रहा है. कुछ समय पहले उषा ठाकुर ने दावा कर दिया था कि गाय के गोबर से बने कंडे पर घी लगाकर किए गए हवन से घर को 12 घंटे तक सैनिटाइज रखा जा सकता है. उनके उस बयान पर भी काफी बवाल काटा गया था. अब वो विवाद ठंडा पडता, उससे पहले अब ये यज्ञ वाला बयान दे दिया गया है. वैसे उषा ठाकुर से पहसे देश के कई दूसरे नेता भी कोरोना को हराने के अपने नुस्खे बता चुके हैं. कोई अंधविश्वास में पड़ बयान दे रहा है तो कोई किसी वाट्स एप मैसेज के दम पर राय दे रहा है. इस वजह से कोरोना काल में कई ऐसी अफवाह फैल रही हैं जो सिर्फ अटकलों के बाजार को गर्म कर रही हैं और लोगों को और ज्यादा दुविधा में डाल रही हैं.

क्लिक करें- MP: गृह मंत्री बोले- कांग्रेस शासित राज्यों में कोरोना फैला, हमारे यहां भी महाराष्ट्र से ही आया 

मध्यप्रदेश में कोरोना मीटर हुआ धीमा

मध्यप्रदेश की कोरोना स्थिति की बात करें तो मामलों में गिरावट तो देखने को मिल रही है लेकिन मौतें अभी भी काफी ज्यादा हो रही हैं. पिछले 24 घंटे की बात करें तो राज्य में कोरोना के 9,754 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 94 लोगों ने इस महामारी के आगे अपना दम तोड़ दिया. राहत की खबर ये है कि मध्यप्रदेश में अब रीकवरी रेट भी बेहतर होता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में अगर 9,754 नए मामले आए हैं तो 9,517 लोग ठीक भी हो गए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें