scorecardresearch
 

MP: एसटीएफ के हत्थे चढ़े अनोखे चोर, चुराते थे मोबाइल टावर की बैटरी

भोपाल एसटीएफ ने मोबाइल टावर की बैटरी चुराने वाले एक गिरोह का खुलासा करते हुए कुल चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें 5 हजार रुपये का इनामी बदमाश भी शामिल है.

पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी (Photo- Aajtak) पुलिस के हत्थे चढ़े आरोपी (Photo- Aajtak)

  • बैटरी चुराने वाले गिरोह का हुआ खुलासा
  • चार गिरफ्तार, इनामी बदमाश भी शामिल

मध्यप्रदेश पुलिस एसटीएफ ने एक ऐसे चोर गिरोह को पकड़ने में कामयाबी पाई है जो किसी घर या दुकान नहीं, बल्कि खुले आसमान के नीचे खड़े मोबाइल टावर में चोरी करते थे. दरअसल, भोपाल एसटीएफ ने मोबाइल टावर की बैटरी चुराने वाले एक गिरोह का खुलासा करते हुए कुल चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इनमें 5 हजार रुपये का इनामी बदमाश भी शामिल है.

पकड़े गए आरोपी टेलीफोन कंपनियों के मोबाइल टावर की बैटरियां और वाहन चोरी के अपराध में शामिल थे. आरोपियों से मोबाइल टावर की 40 बैटरियां, एक जीप और चार मोबाइल बरामद किए गए हैं. दरअसल, पुलिस को काफी समय से भोपाल और आसपास के शहरों से मोबाइल कंपनियों की शिकायत मिल रही थी कि उनके मोबाइल टावरों से बैटरी चोरी हो रही है, जिसके बाद पुलिस ने मामले में तफ्तीश शुरू कर दी.

मोबाइल टावरों की बैटरियां बरामद

रविवार को एसटीएफ भोपाल को सूचना मिली कि चार संदिग्‍ध शख्स एक जीप में चोरी की बैटरियां लेकर जा रहे हैं. इस सूचना के बाद एसटीएफ ने जाल बिछाया और नाकेबंदी कर संदिग्ध जीप को तलाशी कर रोक लिया. जीप की तलाशी लेने पर सूचना सही पाई गई. जीप में से एसटीएफ ने मोबाइल टावरों की बैटरियां बरामद की. पूछताछ में पकड़े गए लोगों ने बताया कि उन्होंने सीहोर के आगे आष्टा से बीएसएनएल कंपनी के मोबाइल टावर से बैटरियां चोरी की हैं.

आरोपियों ने कबूला है कि उन्होंने सीहोर और भोपाल जिले में अलग-अलग मोबाइल कंपनियों के मोबाइल टावरों से अब तक 60 से ज्यादा बैटरियां चोरी की है. पकड़े गए आरोपियों के नाम अंबेडकर जाटव, रिजवान कुरैशी, सैफू कुरैशी और राजेंद्र अहिरवार है. इनमें से रिजवान कुरैशी पर पुलिस द्वारा पांच हजार रुपये का इनाम घोषित था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें