scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश: पन्ना की खदान से निकला 1 करोड़ का हीरा, 20 साल से जारी थी तलाश

मध्य प्रदेश के पन्ना (Panna Madhya Pradesh) में एक बार फिर खदान से 1 करोड़ का हीरा (Diamond) मिला है. यहां एक मध्यवर्गीय कारोबारी ने अपने 5 अन्य साथियों के साथ मिलकर खदान (Mine) आवंटित कराई थी. व्यापारी पिछले बीस साल से हीरे की तलाश कर रहा था. इस हीरे की 24 फरवरी को नीलामी की जाएगी.

X
पन्ना की खदान से निकला 1 करोड़ का हीरा.  (Photo: Aajtak)
पन्ना की खदान से निकला 1 करोड़ का हीरा. (Photo: Aajtak)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 26.11 कैरेट का जैम क्वालिटी का हीरा मिला है
  • 1 करोड़ से ज्यादा आंकी जा रही हीरे की कीमत

मध्यप्रदेश के पन्ना (Panna Madhya Pradesh) की धरती ने एक बार फिर बेशकीमती हीरा (Diamond) उगला है. एक मध्यमवर्गीय कारोबारी को 26.11 कैरेट का जैम क्वालिटी का हीरा मिला है. इसे हीरा कार्यालय में जमा करा दिया गया है. खनिज व हीरा अधिकारी पन्ना रवि पटेल ने बताया कि हीरे को 24 फरवरी को होने वाली हीरा नीलामी में रखा जाएगा. जो राशि बोली में आएगी, उसमें से 11.5 प्रतिशत रॉयल्टी काटकर शेष राशि हीरा मालिक को दी जाएगी.

बेशकीमती हीरों के लिए विश्वविख्यात पन्ना जिले में एक मध्यमवर्गीय कारोबारी की किस्मत रातोंरात चमक गई. पन्ना नगर में किशोरगंज मोहल्ले के निवासी सुशील शुक्ला को 26.11 कैरेट का बहुमूल्य रत्न हीरा मिला है. सुशील शुक्ला करीब 20 वर्ष से हीरे की तलाश कर रहे थे. निरंतर उथली हीरा खदानों में मेहनत कर रहे थे, लेकिन उन्हें हीरा नहीं मिल पा रहा था.

पन्ना की खदान से निकला 1 करोड़ का हीरा.

फरवरी में कराया था हीरा खदान का पट्टा

सुशील ने फरवरी को फिर से हीरा कार्यालय से कृष्णकल्याणपुर की उथली हीरा खदान का पट्टा जारी करवाया. इसके बाद उन्होंने खुद व अपने पांच साथियों के साथ मिलकर खदान में काम शुरू किया. इसके बाद उन्हें सोमवार 21 फरवरी को 26.11 कैरेट का बेशकीमती हीरा मिल गया. हीरे को देख सभी की आंखें खुशी से भर आईं. तुरंत उन्होंने हीरा कार्यालय पहुंचकर हीरा जमा कर दिया. अब इस हीरे को आगामी 3 दिन बाद 24 फरवरी को आयोजित हीरा नीलामी में रखा जाएगा.

उम्मीद नहीं छोड़ी, भरोसे के साथ करते रहे मेहनत

हीरा नीलाम होने के बाद 11.5 प्रतिशत रॉयल्टी व 1 परसेंट TDS काटकर बाकी रकम हीरा मालिक के खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी. वहीं हीरा पाने वाले कारोबारी सुशील ने बताया कि वह एक मध्यवर्गीय परिवार से आते हैं. ईंट भट्टा का काम करते हैं. वह 20 वर्ष से लगातार हीरे की तलाश कर रहे थे. उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी और पन्ना की रत्नगर्भा धरती पर विश्वास कर मेहनत करते रहे.

आखिरकार पन्ना की रत्नगर्भा धरा ने उन्हें सोमवार 21 फरवरी को बेशकीमती हीरा उगल दिया. इसके बाद उनकी किस्मत चमक गई. उन्होंने कहा कि अब कारोबार बढ़ाएंगे व धंधे में यह पैसा लगाएंगे. हीरा धारक ने कहा कि स्कूल से जब से निकले थे, तब से हीरे का काम कर रहे हैं. भगवान की मर्जी थी, जो यह हीरा मिला. बहुत अच्छा लग रहा है. हम तो सबसे कह रहे हैं कि एक बार किस्मत अजमाने जरूर आगे बढ़ना चाहिए.

पन्ना में मिलने वाले बड़े हीरों में से यह चौथा बड़ा हीरा

हीरा अधिकारी रवि पटेल ने बताया कि पन्ना जिले में मिलने वाले बड़े हीरों में से यह चौथा बड़ा हीरा है. इसके पहले साल 1961 में सबसे बड़ा 44.33 कैरेट का हीरा (Diamond) मिला था. उसके बाद 2018 में 42.29 व 2019 में 29.46 कैरेट का हीरा मिला था. उसके यह चौथा बड़ा हीरा है, जो 26.11 कैरेट का है. इस हीरे की अनुमानित कीमत एक करोड़ से ज्यादा बताई जा रही है.

हीरा अधिकारी रवि पटेल ने कहा कि सुशील शुक्ला करीब 20 वर्ष से हीरे की तलाश कर रहे थे. निरंतर उथली हीरा खदानों में मेहनत कर रहे थे. यह चौथा सबसे बड़ा हीरा है. इसे अगली नीलामी में रखा जाएगा. जो राशि बोली में आएगी, उसकी 11.5 प्रतिशत रॉयल्टी काटकर शेष राशि हीरा मालिक को दी जाएगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें