scorecardresearch
 

मध्य प्रदेश में चुनाव: जानिए क्या कहते हैं दिग्गज नेताओं के बेटे

मध्य प्रदेश की राजनीति में कई बड़े धुरंधरों की किस्मत बुधवार को ईवीएम में बंद हो जाएगी तो कई बड़े नेताओं के बेटे भी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. राजनीति में वंशवाद पर बरसने वाली बीजेपी ने कई जगहों पर दूसरी पीढ़ी के नेताओं को मैदान में उतारा है.

मध्य प्रदेश में कई बड़े नेताओं के बेटे भी इस बार किस्मत आजमा रहे (फोटो-सोशल मीडिया) मध्य प्रदेश में कई बड़े नेताओं के बेटे भी इस बार किस्मत आजमा रहे (फोटो-सोशल मीडिया)

मध्य प्रदेश में बुधवार को विधानसभा चुनाव के लिए मतदान जारी है. बीजेपी जहां लगातार चौथी बार चुनाव जीतने की कोशिश में लगी है तो कांग्रेस 15 साल के लंबे इंतजार के बाद सत्ता में वापसी करना चाहती है. इन चुनावी कसरतों के बीच राज्य के कई दिग्गज नेताओं के बेटे खुद चुनावी मैदान में हैं, वहीं कुछ अपने पिता को जीत दिलाने में मदद कर रहे हैं.

आइए, जानते हैं कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय चौहान के अलावा राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के पुत्र जयवर्धन सिंह और कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय क्या कहते हैं चुनाव को लेकर.

 

हमें प्रचंड जीत मिलेगी-कार्तिकेय

मध्य प्रदेश के बुधनी में शिवराज सिंह चौहान के बेटे कार्तिकेय ने राज्य में फिर से बीजेपी सरकार बनने की उम्मीद जताते हुए कहा, 'मैंने प्रचार अकेले नहीं किया है. सभी माताओं-बहनों ने प्रचार किया. हमें प्रचंड जीत की उम्मीद है.' शिवराज की पत्नी साधना ने मतदान की अपील करते हुए कहा कि सभी लोग कमल का फूल दबाएं और अपने भैया को फिर से जिताएं.

राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह ने इस बार चुनाव में जमकर प्रचार नहीं किया, लेकिन उनके बेटे जयवर्धन सिंह एक बार फिर राघोगढ़ से चुनावी समर में उतरे हुए हैं. उन्होंने कहा, 'पिता दिग्विजय सिंह ने पिछली बार मेरे लिए प्रचार किया था. कहा था कि ये पहली और आखिरी बार तुम्हारे लिए प्रचार कर रहा हूं. इस बार परिवर्तन की लहर है. मेरे अब 5 साल के काम का टेस्ट है.' उन्होंने उम्मीद जताई कि इस बार कांग्रेस के खाते में 150 सीटें आएंगी.

काम कर रहा कमलनाथ फैक्टरः नकुलनाथ

कांग्रेस की ओर से मुख्यमंत्री पद के दावेदारों में से एक कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ ने कहा कि आज राज्य की जनता बदलाव चाहती है. चुनाव में कमलनाथ फैक्टर काम कर रहा है. वहीं कमलनाथ की बहू ने भी कहा कि उन्हें पूरी उम्मीद है कि उनके ससुर राज्य की जिम्मेदारी को काफी अच्छे तरीके से संभालेंगे.

राज्य में बीजेपी के कद्दावर नेताओं में गिने जाने वाले कैलाश विजयवर्गीय के बेटे और इंदौर-3 विधानसभा सीट से बीजेपी उम्मीदवार आकाश विजयवर्गीय ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान कोई विवाद नहीं हुआ. कैंपेन अच्छा हुआ. लोगों का अच्छा रिस्पांस मिला. उन्होंने आगे कहा कि वह जीत के प्रति आश्वस्त हैं. तीन नंबर विधानसभा इंदौर का ऐतिहासिक स्थल है. यहां से टिकट मिलना सौभाग्य की बात है. जीत में पिता के नाम का फायदा मिलने के बारे में आकाश ने कहा कि उन्हें पिता के नाम का फायदा मिल रहा है. जनता ने उन पर बहुत विश्वास किया है.

आकाश की पत्नी सोनम ने कहा कि जनसंपर्क का दौर अच्छा रहा. सभी जगह से लोग हमसे जुड़े हुए हैं. टिकट विवाद और वितरण पर हुई देरी पर सोनम ने कहा कि दिवाली के बाद टिकट का ऐलान इसलिए किया गया क्योंकि जिन्हें टिकट नहीं मिलता, उनकी दिवाली खराब हो जाती.

To get latest update about Madhya Pradesh elections SMS MP to 52424 from your mobile. Standard SMS Charges Applicable

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें