scorecardresearch
 

IAS पूजा सिंघल मामले में ED का बड़ा एक्शन, साहिबगंज-रांची के DMO से भी पूछताछ

आईएएस पूजा सिंघल से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में ईडी अब साहिबगंज डीएमओ कुमार और रांची डीएमओ संजीव कुमार से पूछताछ कर रही है.

X
प्रवर्तन निदेशालय प्रवर्तन निदेशालय
स्टोरी हाइलाइट्स
  • IAS पूजा सिंघल मामले में बढ़ा जांच का दायरा
  • साहिबगंज-रांची के डीएमओ से भी पूछताछ

IAS Pooja Singhal Case: आईएएस पूजा सिंघल से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. इस कड़ी में सोमवार को साहिबगंज के जिला खनन पदाधिकारी विभूति (डीएमओ) कुमार और रांची के जिला खनन पदाधिकारी (डीएमओ) संजीव कुमार से पूछताछ की जा रही है.

ईडी के पदाधिकारियों की तरफ से डीएमओ से कड़ी पूछताछ ईडी के जोनल ऑफिस में कई जा रही है. डीएमओ साहिबगंज किसी निजी कार्यक्रम का हवाला देकर ईडी से बच रहे थे. लेकिन ईडी की ओर से लगातार दबाव बढ़ाया जा रहा था, जिस कारण वो सोमवार को आने को मजबूर हुए. ईडी की ओर से रांची के पूर्व और वर्तमान डीएमओ को भी समन जारी किया गया है. रांची के डीएमओ ईडी ऑफिस पहुंचे हैं, उनसे पूछताछ की जा रही है.

आईएएस पूजा सिंघल से जुड़े मनरेगा घोटाले की जांच अब खनन तक पहुंच चुकी है. खनन के मामले में सबसे अहम कड़ी साहिबगंज डीएमओ विभूति कुमार को माना जा रहा है. उन्हीं से पूछताछ के आधार पर जांच में कई अहम खुलासे होने की उम्मीद है. मामले में कई सफेदपोश भी आ सकते हैं. इस पूरे मामले में 6 मई को छापेमारी हुई थी.

मनरेगा घोटाला मामले में आईएएस पूजा सिंघल और उनके करीबियों के ठिकानों पर ईडी ने छापेमारी की थी. जिसमें सीए सुमन कुमार के घर से करोड़ों रुपये बरामद हुए थे. इसके बाद सीए सुमन कुमार को अरेस्ट किया गया. उससे पूछताछ के बाद वरीय आईएएस ऑफिसर पूजा सिंघल को भी ईडी ने अरेस्ट कर लिया था. उसके बाद से ही मामले में लगातार नए खुलासे हो रहे हैं.

साहिबगंज में 2 ऐसे व्यक्ति को खनन पट्टा दिया गया था जिनका सत्ता के गलियारे में जबरदस्त रसूख है. लिहाजा साहिबगंज डीएमओ से पूछताछ काफी अहम हो जाती है जबकि रांची डीएमओ से पूछताछ इसलिए ईडी कर रही है कि क्योंकि राज्य के सत्ता के सबसे ओहदेदार के नाम भी खनन पट्टा आवंटित हुआ था और मामले अदालतों तक भी जा चुका है.

उधर, झारखंड सरकार ने अबू बकर सिद्दीक पी को नया खान सचिव बनाया. दरअसल, पूजा सिंघल की गिरफ्तारी के बाद खान सचिव का पद खाली पड़ा हुआ था. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें