scorecardresearch
 

धनबाद जज उत्तम आनंद की मौत हादसा नहीं हत्या, ड्राइवर समेत 2 पर 302 का केस दर्ज

जिस टेंपो से एडिशनल जज उत्तम आनंद (dhanbad judge uttam anand) को टक्कर मारी गई थी उसका ड्राइवर और एक अन्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है.

जज उत्तम आनंद की हुई थी मौत जज उत्तम आनंद की हुई थी मौत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • धनबाद के एडिशनल जज उत्तम आनंद को टेंपो ने टक्कर मारी थी
  • बाद में सीसीटीवी फुटेज से संदेह हुआ कि टक्कर जानबूझकर मारी गई

झारखंड में धनबाद के एडिशनल जज उत्तम आनंद की मौत मामले में भारतीय दंड संहिता की धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है. जिस टेंपो से एडिशनल जज उत्तम आनंद को टक्कर मारी गई थी, उसके ड्राइवर और एक सहयोगी को सुबह ही पुलिस ने गिरफ्तार किया था. दोनों को गिरिडीह जिले से गिरफ्तार किया गया है. धनबाद एसएसपी ने साफ कर दिया है कि यह हत्या का मामला है.

बता दें कि कई हाईप्रोफाइल केस की सुनवाई कर रहे एडिशनल जज उत्तम आनंद को बुधवार सुबह मॉर्निंग वॉक के दौरान ऑटो ने कुचल दिया था, जिसमें उनकी मौत हो गई. इस पूरी घटना का सीसीटीवी फुटेज सामने आया था, जिसे देखने पर साफ लग रहा था कि मामला एक्सीडेंट का नहीं बल्कि कुछ और है.

 जज को टक्कर मारने वाला ऑटो रिक्शा भी बरामद

घटना को अंजाम देने वाला ऑटो रिक्शा पहले ही बरामद कर लिया गया था. धनबाद एसएसपी ने बताया कि स्पेशल टास्क फोर्स बनाकर यह कार्रवाई की गई. इस मामले में धारा 302 (हत्या) के तहत मामला दर्ज किया गया है. बरामद ऑटो रिक्शा चोरी का है या नहीं इसकी फिलहाल जांच हो रही है. बताया गया कि आगे जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे वह बताया जाएगा. पकड़े जाने के बाद दोनों आरोपियों को मीडिया के सामने भी लाया गया था.

जज के भाई ने की CBI जांच की मांग

जज उत्तम आनंद के छोटे भाई सुमन शुंभु ने इस मामले में CBI जांच की मांग की है. वहीं हजारीबाग बार असोसिएशन ने भी सीबीआई जांच की मांग का समर्थन किया है. आज हजारीबाग में ही उनका अंतिम संस्कार किया गया. हजारीबाग बार असोसिएशन के अध्यक्ष मिथलेश कुमार सिन्हा ने बताया कि अंतिम संस्कार में हजारीबाग के डिस्ट्रिक्ट जज सह अन्य जज और मैजिस्ट्रेट मौजूद थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें