scorecardresearch
 

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल के लिए भारी बर्फबारी का रेड अलर्ट, अगले 72 घंटे भारी

जम्मू-कश्मीर में 20 जनवरी 21 जनवरी और 22 जनवरी को 65 - 65 सेंटीमीटर की भारी बर्फबारी हर 24 घंटे में होने की संभावना है. इसका सीधा मतलब यह हुआ कि जम्मू कश्मीर में उन जगहों पर जहां पर बर्फबारी होती है वहां पर अगले 72 घंटों में डेढ़ मीटर से लेकर 2 मीटर तक की जबरदस्त बर्फबारी हो सकती है.

फाइल फोटो (आजतक) फाइल फोटो (आजतक)

जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के लिए अगले 72 घंटे भारी रहने वाले हैं. मौसम विभाग ने यहां पर भारी बर्फबारी का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के मुताबिक एक ताकतवर वेस्टर्न डिस्टरबेंस उत्तर पश्चिम भारत में पहुंच चुका है.

इसकी वजह से जम्मू कश्मीर में मौसम ने करवट ले ली है. जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के आसमान में घने बादल छा रहे हैं. इसकी वजह से मौसम विभाग ने जम्मू कश्मीर और हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर जगहों में भारी बर्फबारी का रेड अलर्ट जारी कर दिया है. मौसम विभाग का कहना है इस वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी के साथ साथ उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में बारिश और ओलावृष्टि के तौर रहेगा.

मौसम विभाग के रेड अलर्ट के मुताबिक जम्मू और कश्मीर के ज्यादातर जगहों में बारिश और बर्फबारी का दौर 22 जनवरी तक जारी रहेगा. इस दौरान यहां पर 20 जनवरी 21 जनवरी और 22 जनवरी को 65 - 65 सेंटीमीटर की भारी बर्फबारी हर 24 घंटे में होने की संभावना है. इसका सीधा मतलब यह हुआ कि जम्मू कश्मीर में उन जगहों पर जहां पर बर्फबारी होती है वहां पर अगले 72 घंटों में डेढ़ मीटर से लेकर 2 मीटर तक की जबरदस्त बर्फबारी हो सकती है. इसके मद्देनजर जम्मू और कश्मीर में अगले 5 दिनों तक हिमस्खलन की बहुत ज्यादा संभावनाएं हैं.

इधर हिमाचल प्रदेश में बादलों की आवाजाही शुरू हो गई है. यहां पर कुल्लू मनाली, लाहौल स्पीति, किन्नौर, चंबा और धर्मशाला में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला 23 जनवरी तक जारी रहने की संभावना है. मौसम विभाग का कहना है कि अगले 24 घंटे में हिमाचल प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में बारिश और बर्फबारी का सिलसिला रहेगा. इसके बाद यहां पर बर्फबारी और तेज हो जाएगी. इस आशंका के मद्देनजर मौसम विभाग ने 21 जनवरी और 22 जनवरी के लिए हिमाचल प्रदेश में भारी हिमपात की रेड वार्निंग जारी कर दी है. मौसम विभाग ने स्थानीय प्रशासन को सतर्क किया है और सैलानियों को भारी बर्फबारी वाले इलाकों से बचने की सलाह दी है.

वेस्टर्न डिस्टरबेंस की वजह से पंजाब और हरियाणा में अगले चार-पांच दिनों तक बादलों की आवाजाही देखी जाएगी. इन दोनों राज्यों में अगले 4 दिनों तक कई जगहों पर मध्यम दर्जे की बारिश रिकॉर्ड की जाएगी. 21 जनवरी को पंजाब और हरियाणा में कई जगहों पर 6 सेंटीमीटर की भारी बारिश होने की भी आशंका है. दिल्ली एनसीआर की बात करें तो यहां पर अगले 24 से लेकर 72 घंटे तक बादलों की आवाजाही रहेगी लेकिन यहां पर बारिश की सबसे ज्यादा संभावना 21 जनवरी को है.

पश्चिमी राजस्थान में कई जगहों पर बादलों की आवाजाही रहेगी और यहां पर कुछ स्थानों पर अगले 48 घंटों में हल्की बारिश रिकॉर्ड की जाएगी. पूर्वी राजस्थान की बात करें तो यहां भी 23 जनवरी तक कुछ स्थानों पर रुक-रुक कर बारिश देखी जा सकती है. वेस्टर्न डिस्टरबेंस का असर उत्तर प्रदेश पर भी देखा जाएगा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में 20 तारीख से लेकर 24 तारीख तक बादलों की आवाजाही के बीच कई जगहों पर हल्की  से मध्यम बारिश रिकॉर्ड की जाएगी. 21 जनवरी को यहां पर ज्यादातर इलाकों में अच्छी बारिश की संभावना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें