scorecardresearch
 

370 के बाद कश्मीर में बड़ा हमला, आतंकियों ने 5 बाहरी मजदूरों को गोलियों से भूना

आतंकियों ने कुलगाम में हमला किया है, जिसमें 5 मजदूरों की मौत हो गई है. जबकि एक घायल है. मारे गए सभी मजदूर कश्मीर से बाहर के हैं. 

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर

  • आतंकियों ने कुलगाम में किया हमला
  • मजदूरों पर किया गया हमला, 5 की मौत

जम्मू और कश्मीर में आतंकियों की बौखलाहट एक बार फिर सामने आई है. आतंकियों ने कुलगाम में हमला किया है, जिसमें 5 मजदूरों की मौत हो गई है. जबकि एक घायल है. मारे गए सभी मजदूर कश्मीर से बाहर के हैं. जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से घाटी में ये सबसे बड़ा आतंकी हमला है. आतंकियों की कायराना हरकत से साफ है कि वे कश्मीर पर मोदी सरकार के फैसले से बौखलाए हुए हैं और लगातार आम नागरिकों को निशाना बना रहे हैं.

जम्मू और कश्मीर पुलिस ने कहा कि सुरक्षा बलों ने इस इलाके की घेराबंदी कर ली है और बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चल रहा है. अतिरिक्त सुरक्षा बलों को बुलाया गया है. माना जा रहा है कि मारे गए मजदूर पश्चिम बंगाल के थे.

ये हमला ऐसे समय हुआ है जब यूरोपियन यूनियन के 28 सांसद कश्मीर के दौरे पर हैं. सांसदों के दौरे के कारण घाटी में सुरक्षा काफी कड़ी है. इसके बावजूद आतंकी बौखलाहट में किसी ना किसी वारदात को अंजाम दे रहे हैं. डेलिगेशन के दौरे के बीच ही श्रीनगर और दक्षिण कश्मीर के कुछ इलाकों में पत्थरबाजी की घटनाएं सामने आईं.

48 घंटे का अलर्ट

कुलगाम में आतंकी हमले से पहले सुरक्षा एजेंसियों ने 48 घंटे का अलर्ट भी जारी किया था. अलर्ट के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर और देश की राजधानी दिल्ली में आतंकवादी बड़े हमले की फिराक में हैं. आतंकियों को उनके आकाओं ने मरो या मारो का आदेश दिया है. आतंकियों के निशाने पर जम्मू-कश्मीर और दिल्ली के कई बड़े सरकारी दफ्तर हैं.

कश्मीर में खुला घूमना चाहता था EU सांसद, शर्त के बाद रद्द हुआ निमंत्रण

बताया जा रहा है कि आतंकी हर हाल में 31 अक्टूबर को केंद्र शासित प्रदेश का नोटिफिकेशन जारी होने से पहले जम्मू-कश्मीर में बड़ी आतंकी वारदात को अंजाम देना चाहते हैं. अलर्ट में जम्मू-कश्मीर के अलावा राजधानी दिल्ली में भी सतर्कता बरतने को कहा गया है.

निशाने पर आम नागरिक

गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को इस साल 5 अगस्त को ही निष्प्रभावी किया गया था. इसके बाद से ही आतंकी बौखलाए हुए हैं. 370 हटाए जाने के बाद आतंकी सेब व्यापारी और मजदूरों को खासतौर से निशाना बना रहे हैं. सोमवार को ही आतंकियों ने अनंतनाग में ट्रक डाइवर की हत्या कर दी. मृतक का नाम नारायण दत्त है. 7 दिनों के अंदर ट्रक ड्राइवर पर ये चौथा हमला था. इससे पहले शोपियां में तीन हमले हुए थे. एक अज्ञात हथियारबंद आतंकी ने अनंतनाग के कंडीजल इलाके में इस वारदात को अंजाम दिया. मृतक जम्मू कश्मीर के रियासी जिले का ही रहने वाला था.

कश्मीर में EU सांसदों की टीम को लाने वाले NGO को कौन देता है पैसा?

इससे पहले आतंकियों ने सेब लदे दो ट्रकों में आग लगा दी और ड्राइवर को गोली मार दी थी. इसी महीने सोपोर में भी आतंकियों ने सेब से भरे ट्रक को आग लगा दी थी. इसके अलावा राजस्थान के भरतपुर के रहने वाले 40 वर्षीय ट्रक ड्राइवर शरीफ खान की आतंकियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी और ट्रक को आग के हवाले कर दिया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें