scorecardresearch
 

CM जयराम ठाकुर बोले- कंगना हिमाचल में सुरक्षित, मुंबई में भी सिक्योरिटी की जिम्मेदारी

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को कहा कि गृह मंत्रालय ने भी उन्हें (कंगना रनौत) वाई प्लस सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है. इसका मतलब है कि उनकी सुरक्षा के लिए 11 सीआरपीएफ जवानों की नियुक्ति की जाएगी. उनकी बहन ने पहले हमसे संपर्क किया और उसके बाद उनके पिता ने एक लिखित अनुरोध किया कि सुरक्षा मुहैया कराई जाए.

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नौ सितंबर को मुंबई जाएंगी कंगना रनौत
  • मुंबई में भी सुरक्षा आकलन करेंगे डीजीपी
  • परिवार ने सुरक्षा के लिए साधा था संपर्क

हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत 9 सितंबर को मुंबई जाने वाली हैं. वह हिमाचल प्रदेश में सुरक्षित हैं, फिर भी, हमने उनकी सुरक्षा कड़ी करने के लिए कहा है. मुंबई में उनकी सुरक्षा का आकलन करने के लिए डीजीपी को आदेश दिया है. 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को कहा कि गृह मंत्रालय ने भी उन्हें (कंगना रनौत) वाई प्लस सुरक्षा मुहैया कराने का निर्णय लिया है. इसका मतलब है कि उनकी सुरक्षा के लिए 11 सीआरपीएफ जवानों की नियुक्ति की जाएगी. उनकी बहन ने पहले हमसे संपर्क किया और उसके बाद उनके पिता ने एक लिखित अनुरोध किया कि सुरक्षा मुहैया कराई जाए. सुरक्षा मुहैया कराने के लिए कंगना ने भी हमें धन्यवाद दिया है. वह 4-5 दिनों के बाद वापस हिमाचल लौट आएंगी. मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में यह बात कही.

इससे पहले, कंगना रनौत को वाई-श्रेणी की सुरक्षा देने के सवाल पर मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा था कि कंगना हिमाचल की बेटी हैं. कंगना ने राज्य का नाम रोशन किया है. छोटे परिवार से ताल्लुक रखने वाली कंगना ने फिल्म इंडस्ट्री में अपनी जगह बनाई है. ऐसे में उन्हें लगता है कि वो सुरक्षित नहीं है तो उन्हें सुरक्षा मुहैया करायी जानी चाहिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए कंगना के पिता ने लिखित मांग भी की है. इसलिए हमने सुरक्षा देने का निर्णय किया है. राज्य सरकार की ओर से मनाली में उन्हें सुरक्षा मुहैया कराने का काम किया गया है.

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस मामले को जब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने अपने संज्ञान में लिया तो निर्णय हुआ कि उन्हें वाई श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी. इसमें सीआरपीएफ का एक दस्ता उनके साथ रहेगा. मुंबई में मौजूदा माहौल के बीच महाराष्ट्र सरकार के मंत्री ने जिस तरह का बयान कंगना को लेकर दिया है, उस लिहाज से उन्हें सुरक्षा देना हमारी जिम्मेदारी बनती है. इसमें कोई रानजीतिक मसला नहीं है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×