scorecardresearch
 

ब्लैंक चेक शेयर कर DCP-SHO से कहा- 'जितना मर्जी पैसा भर लो, बस मेरी मदद करो'

दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में एक शख्स ने पुलिस के दो अधिकारियों को ब्लैंक चेक देकर गौ तस्करी रोकने में मदद की अपील की है. अब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि बदनाम करने के आरोप में उस व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

X
ब्लैंक चेक देकर लगाई मदद की गुहार ब्लैंक चेक देकर लगाई मदद की गुहार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पुलिस को ब्लैंक चेक देकर मदद की गुहार
  • गुरुग्राम का मामला, पुलिस ने कहा-होगी कार्रवाई

दिल्ली से सटे हरियाणा के गुरुग्राम में एक शख्स ने पुलिसकर्मियों को चेक के जरिए पैसे देने की पेशकश की और कहा कि जितना मर्जी ले लो लेकिन गौ तस्करों के खिलाफ मदद करो. दरअसल गौ तस्करी के मामले में उसने मामला दर्ज करने की अपील की है.

गुरुग्राम में स्थानीय निवासी चौधरी सत प्रकाश नैन ने खुद को हिंदू संगठन का मुखिया बताते हुए ट्विटर पर दो पुलिसकर्मियों को पैसे देने की पेशकश की और उनसे गौ तस्करी के मामले में  कार्रवाई करने के लिए कहा. इसको लेकर एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि वो बदनाम करने वाले पोस्ट के लिए उस व्यक्ति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे.

इस मामले पर पुलिस आयुक्त कला रामचंद्रन ने कहा, "अलग-अलग जिलों में उस व्यक्ति के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं. अभी अधिकारी विरोध प्रदर्शन को लेकर कानून व्यवस्था बनाए रखने में व्यस्त हैं, इसलिए यह ट्वीट हमारी प्राथमिकता सूची में नहीं है. एक बार जब हम मुक्त हो जाएंगे तो हम आरोपी के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई करेंगे.

चौधरी सत प्रकाश नैन ने अपने ट्वीट के साथ दो खाली चेक की तस्वीर पोस्ट की, जिसमें डीसीपी, साउथ और एसएचओ, भोंडसी थाने को कोई भी राशि भरने और गौ तस्करों के खिलाफ मदद करने के लिए कहा.

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, "गुरुग्राम पुलिस, कृपया बताएं कि तस्करों ने मुझे मारने के लिए कितने पैसे दिए हैं, उससे ज्यादा देंगे, मामला दर्ज करें. ये खाली चेक की प्रतियां हैं,"  इस मुद्दे को लेकर संपर्क किए जाने पर नैन ने कहा कि उन्हें ऐसा करने के लिए मजबूर किया गया क्योंकि हर दिन गायों की तस्करी की जाती है और पुलिसकर्मियों ने कोई कार्रवाई नहीं की.

उन्होंने आरोप लगाया, "मेरे भाई मंदीप ने 16 जून को शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन पुलिस ने प्राथमिकी भी दर्ज नहीं की, जबकि 15 से अधिक आरोपी मुझे और मेरे भाई को मारने के लिए हमारे घर आए. आरोपी अपने साथ हथियार लेकर आए थे."

नैन ने कहा, "मैं इन चेकों को जल्द ही एक पंजीकृत डाक के माध्यम से संबंधित अधिकारियों को भेजूंगा क्योंकि मुझे और मेरे भाई को जान से मारने की धमकी मिली है."

ये भी पढ़ें:


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें