scorecardresearch
 

नरोदा पाटिया मामले में अमित शाह को बतौर गवाह पेश कर सकेंगी माया कोडनानी

पूर्व बीजेपी विधायक माया कोडनानी को विशेष अदालत ने साल 2002 में नरोदा पाटिया नरसंहार मामले की सुनवाई में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को गवाह के तौर पर पेश करने की मंजूरी दे दी है.

X
बतौर गवाह पेश हो सकेंगे शाह
बतौर गवाह पेश हो सकेंगे शाह

पूर्व बीजेपी विधायक माया कोडनानी को विशेष अदालत ने साल 2002 में नरोदा पाटिया नरसंहार मामले की सुनवाई में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को गवाह के तौर पर पेश करने की मंजूरी दे दी है. माया कोडनानी ने अमित शाह समेत कुल 14 लोगों को गवाह के तौर पर पेश करने के लिये याचिका दायर की थी, जिसे कोर्ट ने मंजूर कर लिया है.

पूर्व बीजेपी विधायक इन गवाहों के जरिये कोर्ट में यह साबित करेंगी कि वह घटना के दौरान वहां पर मौजूद नहीं थी. माया की याचिका पर विशेष अदालत के जस्टिस पीबी देसाई ने कहा कि इन गवाहों को सुनवाई के उचित चरणों पर समन जारी करना चाहिए. उन्होंने कहा कि अगर कुछ गवाहों की गवाही दोहराने की संभावना आती है तो अन्य चरण में उन्हें नहीं बुलाने का भी विकल्प है.

क्या है मामला?
गौरतलब है कि नरोदा पाटिया दंगा मामले में बीजेपी की पूर्व विधायक माया कोडनानी को 28 साल की कारावास की सजा सुनाई गई है. हालांकि वह अभी जमानत पर रिहा हैं. यह मामला गुजरात दंगों में से एक प्रमुख मामला है, जिसकी जांच एसआईटी को सौंपी गई थी. इस दौरान कुल 11 अल्पसंख्यक लोगों की हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद अभी मामले में कुल 82 लोगों का ट्रायल भी चल रहा है. माया कोडनानी पूर्व की गुजरात में मोदी सरकार में महिला बाल विकास कल्याण मंत्री रह चुकी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें