scorecardresearch
 

गुजरात में दिखा साइंस और परंपरा का अद्भुत संगम, निकाली गई Robotic जगन्नाथ रथयात्रा

वडोदरा में लोगों ने Robotic जगन्नाथ रथयात्रा निकाली. यह यात्रा वडोदरा के जय मकवाना द्वारा निकाली गई. उन्होंने इसे विज्ञान और परंपराओं का संगम बताया. भगवान रोबोटिक रथ पर भक्तों के सामने प्रकट हुए.

X
वडोदरा में निकाली गई रोबोटिक रथयात्रा (फोटो-एएनआई) वडोदरा में निकाली गई रोबोटिक रथयात्रा (फोटो-एएनआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गुजरात के वडोदरा में निकाली गई खास रथयात्रा
  • Robotic रथ पर नजर आए भगवान जगन्नाथ

गुजरात में साइंस और परंपरा का अद्भुत संगम देखने को मिला है. यहां वडोदरा में लोगों ने  Robotic जगन्नाथ रथयात्रा निकाली. यह यात्रा वडोदरा के जय मकवाना द्वारा निकाली गई. उन्होंने इसे विज्ञान और परंपराओं का संगम बताया. भगवान रोबोटिक रथ पर भक्तों के सामने प्रकट हुए. 

जय मकवाना ने कहा, यह रोबोटिक रथ यात्रा उत्सव का एक आधुनिक संगम है, जिसमें भगवान रोबोटिक रथ पर भक्तों के सामने प्रकट हुए. इस रथयात्रा की खास बात ये रही कि यह रथ रस्सी के बजाय फोन ब्लूटूथ के जरिए ऑपरेट हुई. इस रथयात्रा में सीमित लोग शामिल हुए. लोगों ने रोबोटिक रथ पर पुष्पवर्षा की. 

 

 

पुरी में दो साल बाद निकली रथयात्रा

उधर, ओडिशा के पुरी में दो साल बाद रथयात्रा निकाली गई. हालांकि, कोरोना गाइडलाइन का भी पालन किया गया. कोरोना के चलते दो साल से रथयात्रा पर लोगों के शामिल होने पर रोक थी. दो साल में पहली बार भक्त रथयात्रा में शामिल हुए. दो साल के इंतजार के बाद भागवान जगन्नाथ ने अपने भाई बलभ्रद और बहन सुभद्रा के साथ रथों पर सवार होकर भक्तों को दर्शन दिए. इस रथ यात्रा में लाखों लोग शामिल हुए. 

ये ी

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें