scorecardresearch
 

गुजरात: कच्छ की कोयल नाम से मशहूर लोकगायिका ने घर पर लगवाई वैक्सीन, हुआ विवाद

लोक गायिका गीता रबारी ने अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लोगों से शेयर किया कि उन्होंने अपने घर पर ही कोरोना से बचने के लिए टीका लिया है, इसके साथ ही उन्होंने वैक्सीनेशन की एक फोटो भी अपलोड की. इस फोटो के सामने आने के बाद बवाल मच गया.

लोकगायिका गीता रबारी (फाइल फोटो) लोकगायिका गीता रबारी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • लोकगायिका ने फेसबुक पर डाला था फोटो
  • घर पर वैक्सीन लगवाई थी गीता रबारी ने
  • वैक्सीन केंद्र की जगह घर पर वैक्सीन लगी
  • प्रशासन ने कर्मचारियों से मांगा स्पष्टीकरण

देश-विदेश में 'कच्छ की कोयल' के नाम से मशहूर गुजरात के टप्पर गांव की लोक गायिका गीता रबारी एक बार फिर विवाद में आ गई हैं. लोक गायिका गीता रबारी ने शनिवार को अपने आधिकारिक फेसबुक पेज पर लोगों से शेयर किया कि उन्होंने अपने घर पर ही कोरोना से बचने के लिए टीका लिया है, इसके साथ ही उन्होंने वैक्सीनेशन की एक फोटो भी अपलोड की.

लोकगायिका गीता रबारी (file photo)
लोकगायिका गीता रबारी (file photo)

लेकिन जल्द ही इस मामले पर विवाद शुरू हो गया. जब लोगों ने देखा कि वैक्सीन केंद्र पर लगने की बजाय उनके घर पर लगाई गई है, तो लोग इस पर अपनी प्रतिक्रियाएं देने लगे. इस मामले पर विवाद खड़ा होता देख गीता रबारी ने अपनी पोस्ट तुरंत डिलीट कर दी.

घर पर वैक्सीन लगवाते हुए गीता रबारी
घर पर वैक्सीन लगवाते हुए गीता रबारी

दिल्ली: शिक्षकों के लिए अलग टीकाकरण केंद्र, परिजनों को भी मुफ्त में लगेगी वैक्सीन

लेकिन तब तक ये पूरा मामला इतना फैल चुका था कि इस मामले पर DDO ने संज्ञान लेते हुए तत्काल कार्रवाई की है और जिला हेल्थ ऑफिसर (CDHO) को पूरे मामले की जांच करने का आदेश दिया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ लोकगायिका गीता रबारी (फाइल फोटो)
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ लोकगायिका गीता रबारी (फाइल फोटो)

इस मामले को लेकर CDHO ने स्वास्थ्य कार्यकर्ता को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण मांगा है. ड्यूटी पर मौजूद व्यक्ति को भी एक नोटिस भेजा गया है कि आखिरकार क्यों गीता रबारी का घर पर वैक्सीनीशन किया गया? और किसके आदेश से उनका टीकाकारण उनके घर पर हुआ?

स्टेज पर गाना गाती लोकगायिका गीता रबारी
स्टेज पर गाना गाती लोकगायिका गीता रबारी

अब लोगों में इस बात को लेकर जिज्ञासा है कि क्या केवल स्वास्थ्यकर्मियों पर ही कार्रवाई होकर रह जाएगी या गीता रबारी पर भी कोई कार्रवाई की जाएगी. एक और गुजरात के लोग टीके के लिए ऑनलाइन पंजीकरण नहीं कर पा रहे हैं. निकटतम टीकाकरण केंद्र पर स्लॉट उपलब्ध नहीं हैं और दूर-दराज के वेक्सीन केंद्रों का चक्कर लगाना पड़ता है. घंटो तक लाइनों में खड़ा रहकर अपने टीकाकरण का इंतजार करना पड़ रहा है. वहीं दूसरी ओर सेलिब्रिटीज के घर पर वैक्सीनेशन किया जा रहा है. स्वाभाविक है जनता में आक्रोश उभरेगा ही. (रिपोर्ट- कौशिक कांठेचा)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें