scorecardresearch
 

सिग्नेचर ब्रिज पर संग्राम: मनोज तिवारी बोले- विधायक अमानतुल्ला ने मुझे धक्का दिया

दिल्ली को सिग्नेचर ब्रिज का तोहफा मिलने से ठीक पहले बवाल हुआ. ब्रिज के उद्घाटन से कुछ ही देर पहले दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे और इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प भी हुई.

X
अमानतुल्ला और मनोज तिवारी (फोटो- aajtak.in)
अमानतुल्ला और मनोज तिवारी (फोटो- aajtak.in)

लंबे इंतजार और भारी विवाद के बीच दिल्ली को खूबसूरत सिग्नेचर ब्रिज का तोहफा मिल गया. रविवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसका उद्घाटन किया. आरोप है कि इस दौरान मंच के पास दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी के साथ बदसलूकी भी की गई.

आरोप है कि ओखला से आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्ला खान ने मनोज तिवारी को मंच से गिराने की कोशिश की. वहीं, केजरीवाल के पहुंचने से पहले बीजेपी ने मौके पर पहुंचकर विरोध प्रदर्शन किया.

केजरीवाल से सलाह लेकर अमानतुल्ला ने दिया धक्का!

मनोज तिवारी ने आजतक से खास बातचीत में कहा कि AAP विधायक अमानतुल्ला ने धक्का दिया और जान से मारने की धमकी दी. तिवारी ने कहा कि मैंने किसी को थप्पड़ नहीं मारा. जब मुझे धक्का दिया तो मैं पुलिस से कह रहा था कि इसको पकड़ो. उन्होंने कहा कि मैं मंच के पास डिवाइडर पर खड़ा था, मेरी समझ में नहीं आ रहा कि अमानतुल्ला ने मुझे क्यों धक्का मारा. तिवारी ने कहा कि जब मुझे धक्का दिया तो उससे पहले अमानतुल्ला ने किसी से विचार विमर्श किया.

मनोज तिवारी ने नाम लिए बिना केजरीवाल और सिसोदिया की तरफ इशारे करते हुए कहा कि सलाह के बाद मुझे धक्का दिया गया. उन्होंने कहा कि सिग्नेचर ब्रिज के लिए हमने 33 करोड़ रुपये दिए हैं, और मैं यहां का सांसद हूं इसलिए उद्घाटन समारोह में पहुंचा.

अमानतुल्ला ने दी जान से मारने की धमकी

मनोज तिवारी ने बताया कि अमानतुल्ला खान ने कहा, यहां से चले जाओं नहीं तो गोली मार दूंगा. अमानतुल्ला ने जान से मारने की धमकी दी. फिर वो मंच पर जाकर दोबारा वापस आया और मुझे धक्का दिया. मैं चार फीट नीचे गिर जाता तो मेरी मौत भी हो सकती थी.

FIR दर्ज कराएंगे मनोज तिवारी

तिवारी ने कहा कि सांसद को जान से मारने की कोशिश करने वाले क्या ये दाउद के गुर्गे हैं. इन्हें तुरंत जेल में डाल देना चाहिए. तिवारी ने कहा कि मैं एफआईआर दर्ज करा रहा हूं, जमानत नहीं होनी चाहिए.

बता दें कि सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन से पहले दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी अपने समर्थकों के साथ मौके पर पहुंचे थे. मनोज तिवारी के वहां पहुंचने पर हंगामा शुरू हो गया. इस दौरान मनोज तिवारी को गुस्सा आ गया और वो पुलिस से भिड़ गए. बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि मैंने ब्रिज के निर्माण को दोबारा शुरू कराया था और अब अरविंद केजरीवाल उद्घाटन कर रहे हैं.

मनोज तिवारी ने कहा कि इलाके के सांसद होने के नाते मैं यहां  सिग्नेचर ब्रिज पर आया हूं. बता दें कि जहां पर उद्घाटन  है वहां से सांसद मनोज तिवारी हैं. मनोज तिवारी ने कहा कि मुझे उद्घाटन समारोह में आमंत्रित किया गया था. मैं यहां से सांसद हूं, तो समस्या क्या है? क्या मैं एक अपराधी हूं? उन्होंने कहा कि यहां अरविंद केजरीवाल का स्वागत करने के लिए हूं.

सिग्नेचर ब्रिज पर हुए हंगामे को लेकर आम आदमी पार्टी के नेता दिलीप पांडे ने यहां हजारों लोग बिना निमंत्रण पत्र के आए हैं. उन्होंने कहा कि मनोज तिवारी अपने आपको वीआईपी मानते हैं. बीजेपी के समर्थकों ने AAP कार्यकर्ताओं और स्थानीय लोगों के साथ मारपीट की है, उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया है.

वहीं दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर कहा कि सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन से मायूस कुछ खिसियानी बिल्लियां खंभा नोंच रही हैं. इन्होंने सुपारी उठा रखी थी कि केजरीवाल सरकार के इस कार्यकाल में सिग्नेचर ब्रिज को पूरा नहीं होने देंगे.

सिग्नेचर ब्रिज आज यानी रविवार को आम जनता के लिए खोला जाएगा. इस ब्रिज को पूरा होने में 14 साल लगे हैं, और इस पर कुल लागत करीब 1500 करोड़ रुपये तक आ चुकी है. इसमें अभी 2 लिफ्ट भी लगनी हैं, जिसकी मदद से लोग 154 मीटर ऊपर जाकर एक गिलास बॉक्स से दिल्ली का दीदार कर सकेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें