scorecardresearch
 

दिल्लीः कोरोना पर आस्था हावी, एहतियात के साथ खुले मंदिर, शैलपुत्री के दर्शन

कोरोना संकट के बीच आज से नवरात्रि शुरू हो गई. कोरोना काल में झंडेवालान मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए खास इंतजाम किए गए हैं. नवरात्र से नवमी तक झंडेवाली माता के स्वरूप के आठ रथ तैयार किए गए हैं. ये रथ पूरी दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर जाएंगे ताकि श्रद्धालु वहीं पर दर्शन कर सकें.

झंडेवालन मंदिर में श्रद्धालु (फोटो-PTI) झंडेवालन मंदिर में श्रद्धालु (फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नवरात्रि शुरू होने पर कई मंदिर खुले
  • सावधानी के साथ मंदिर जा रहे श्रद्धालु
  • बुजुर्गों, बच्चों पर अभी रोक जारी है

कोरोना संकट के बीच आज से नवरात्रि शुरू हो गई. कोरोना काल में झंडेवालान मंदिर में श्रद्धालुओं के लिए खास इंतजाम किए गए हैं. नवरात्र से नवमी तक झंडेवाली माता के स्वरूप के आठ रथ तैयार किए गए हैं. ये रथ पूरी दिल्ली में विभिन्न स्थानों पर जाएंगे ताकि श्रद्धालु वहीं पर दर्शन कर सकें.

मकसद ये भी है कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं और भक्तों की भीड़ बेहद कम हो. मंदिर प्रशासन का मानना है कि अपने-अपने इलाकों में ही दर्शन करने से मंदिर चलकर आने वाले भक्तों की संख्या बहुत कम हो जाएगी. यह रथ सुबह 6:00 बजे झंडेवालान मंदिर से निकलेंगे और शाम को वापस लौट आएंगे.

झंडेवालान माता मंदिर प्रशासन ने दिल्ली में इसके लिए 31 स्थानों को चुना है, जहां पर झंडेवाली माता के रथ जाएंगे. यह रथ पहली नवरात्रि से शुरू होकर नवमी तक इन स्थानों पर लोगों के बीच जाएंगे.

देखें: आजतक LIVE TV

कालका जी मंदिर भी खुला

कालका जी मंदिर के मुख्य पुजारी सुनील ने बताया कि शुक्रवार को एक आदेश के तहत कालका जी मंदिर बंद था, लेकिन नवरात्रि के पहले दिन दर्शन के लिए खोल दिया गया है. एक बार सिर्फ 20 लोगों को ही आने दिया जा रहा है. मास्क अनिवार्य है. बुजुर्गों, बच्चों को मंदिर में जाने नहीं दिया जा रहा है. मंदिर में किसी भी तरह का प्रसाद चढ़ाने की इजाजत नहीं है.


 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें