scorecardresearch
 

काबुल में गुरुद्वारे पर हमले को लेकर भारत ने अपनाया सख्त रुख, UN में कही ये बात

टीएस तिरुमूर्ति ने अफगानिस्तान के काबुल में करता परवन गुरुद्वारे पर हाल ही में हुए कायरतापूर्ण हमले पर भारत की राय रखी. तिरुमूर्ति ने हमले की निंदा करते हुए कहा कि भारत ने कट्टरपंथ और आतंकवाद दोनों का मुकाबला करने में अग्रणी भूमिका निभाई है.

X
टीएस तिरुमूर्ति. -फाइल फोटो
टीएस तिरुमूर्ति. -फाइल फोटो
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दुनिया के प्रमुख धर्मों में से हर एक का घर भारत में है: तिरुमूर्ति
  • करता परवन गुरुद्वारे पर इस्लामिक स्टेट ने किया था हमला

भारत ने सोमवार को अफगानिस्तान के काबुल में करता परवन गुरुद्वारे पर हाल ही में हुए कायरतापूर्ण हमले की कड़े शब्दों में निंदा की. संयुक्त राष्ट्र महासभा में भारत के स्थायी प्रतिनिधि राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने कहा किकुछ दिन पहले हमने हेट स्पीच का मुकाबला करने के लिए अंतरराष्ट्रीय दिवस मनाया, उसी दिन हमने इसका एक दुखद उदाहरण काबुल में सिख धर्म के खिलाफ देखा. गुरुद्वारा करता परवान पर हमला किया गया, उसे अपवित्र किया गया और क्षतिग्रस्त किया गया. 

टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि यदि आप वास्तव में नफरत का मुकाबला करना चाहते हैं तो धार्मिक भय पर दोहरा मापदंड नहीं हो सकता है. उन्होंने ये भी कहा कि हेट स्पीच शांति, सहिष्णुता और सद्भाव का विरोधी है. उन्होंने कहा कि भारत ने बार-बार इस बात पर जोर दिया है कि धार्मिक भय का मुकाबला करना कभी सफल नहीं हो सकता है यदि यह केवल एक या दो धर्मों तक ही सीमित रहा.

दुनिया के प्रमुख धर्मों में से हर एक का घर भारत में है: तिरुमूर्ति

तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत का मानना ​​है कि लोकतंत्र और बहुलवाद के सिद्धांतों पर आधारित समाज विविध धर्मों और समुदायों को एक साथ रहने के लिए एक सक्षम वातावरण प्रदान करता है. आज दुनिया के प्रमुख धर्मों में से हर एक का भारत में घर है, जो इसे अद्वितीय विविधता वाला देश बनाता है. भारत ने सदियों से सभी को शरण दिया है, चाहे वह जोरास्ट्रियन हो या यहूदी समुदाय या फिर तिब्बती, बौद्ध हो. 

कट्टरपंथ और आतंकवाद दोनों से मुकाबला करने में भारत आगे रहा है

उन्होंने कहा कि भारत ने सभी धर्मों और संस्कृतियों के लिए सहिष्णुता और सम्मान की संस्कृति को बढ़ावा दिया है. उन्होंने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है कि आतंकवाद सभी धर्मों का विरोधी है. तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत ने कट्टरपंथ और आतंकवाद दोनों का मुकाबला करने में अग्रणी भूमिका निभाई है. 

बता दें कि शनिवार को इस्लामिक स्टेट ने करता परवन गुरुद्वारे पर हमला किया था जिसमें दो लोगों की मौत हो गई थी और कई अन्य घायल हो गए. बंदूकधारियों ने शनिवार सुबह गुरुद्वारे में धावा बोलने की कोशिश की थी और कई घंटों तक चले गतिरोध के बाद सभी हमलावर मारे गए थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें