scorecardresearch
 

फर्जी डिग्री विवाद: जितेंद्र तोमर ने केजरीवाल को पत्र लिखकर दी सफाई

दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर ने लॉ की अपनी डिग्री पर चल रहे विवाद पर गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर कहा कि डिग्री के फर्जी होने का आरोप ‘आधारहीन’ है और इसका उद्देश्य उनकी और पार्टी की छवि को ‘धूमिल’ करना है.

जितेंद्र सिंह तोमर (फाइल फोटो) जितेंद्र सिंह तोमर (फाइल फोटो)

दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर ने लॉ की अपनी डिग्री पर चल रहे विवाद पर गुरुवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर कहा कि डिग्री के फर्जी होने का आरोप ‘आधारहीन’ है और इसका उद्देश्य उनकी और पार्टी की छवि को ‘धूमिल’ करना है.

तोमर ने भाजपा नेता नंद किशोर गर्ग को धमकी दी कि नाम बदनाम करने के लिए वह उनके खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज कराएंगे. गर्ग ने तोमर की डिग्रियों की प्रमाणिकता को अदालत में चुनौती दी है.

केजरीवाल ने गत मंगलवार को तब तोमर से इस मामले पर अपना रूख स्पष्ट करने के लिए कहा था जब बिहार की तिलका मांझी भागलपुर विश्वविद्यालय ने दिल्ली हाई को बताया कि दिल्ली के कानून मंत्री जितेंद्र सिंह तोमर का लॉ की डिग्री जाली है और इसका संस्थान में कोई रिकॉर्ड नहीं है.

तोमर ने केजरीवाल को लिखे अपने पत्र में कहा, ‘चूंकि यह स्पष्ट होने लगा था कि वह (नंद किशोर गर्ग) अपनी सीट (विधानसभा चुनाव में) गंवा देंगे, उन्होंने मेरा नाम बदनाम करने के लिए गंदी चालों का सहारा लेना शुरू कर दिया. जब लगा कि कुछ भी काम नहीं कर रहा है, उन्होंने हाई कोर्ट में एक चुनावी याचिका दायर करके मेरी स्नातक और विधि की डिग्रियों की प्रमाणिकता पर सवाल उठाए.’

तोमर ने दावा किया कि गर्ग की ओर से मुहैया कराए गए दस्तावेज ‘गलत’ हैं. उन्होंने कहा, ‘गर्ग दिल्ली और हिमाचल प्रदेश में कुछ विश्वविद्यालय चलाते हैं और अन्य विश्वविद्यालयों से अपने संपर्क के चलते उन्होंने गलत विवरण का हवाला देते हुए कुछ दस्तावेज प्राप्त कर लिए. इन गलत दस्तावेजों को चुनावी याचिका में सबूत के रूप में उल्लेखित किया गया है.’

-इनपुट भाषा से

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें