scorecardresearch
 

दिल्ली के नरेला में बनेगी चौथी जेल, तीन जेलों में बंद हैं दोगुने से ज्यादा कैदी

दिल्ली के नरेला में अब चौथी जेल बनने जा रही है. डीडीए ने इसके लिए जेल विभाग को 1.6 लाख स्क्वायर मीटर जमीन भी सौंप दी है. गौरतलब है कि दिल्ली की तिहाड़, रोहिणी और मंडोली जेल में लगातार कैदियों की संख्या बढ़ती जा रही है. यही वजह है कि अब नरेला में चौथी जेल बनाने का काम शुरू किया जा रहा है.

X
सांकेतिक तस्वीर. सांकेतिक तस्वीर.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • तीनों जेलों में 10 हजार कैदी रखने की क्षमता
  • जेलों में इस समय बंद हैं 19 हजार से ज्यादा कैदी

दिल्ली के नरेला में अब चौथी जेल बनने जा रही है. डीडीए ने इसके लिए जेल विभाग को 1.6 लाख स्क्वायर मीटर जमीन भी सौंप दी है. गौरतलब है कि दिल्ली की तिहाड़, रोहिणी और मंडोली जेल में लगातार कैदियों की संख्या बढ़ती जा रही है. यही वजह है कि अब नरेला में चौथी जेल बनाने का काम शुरू किया जा रहा है.

दरअसल जेल के लिए जमीन का मामला पिछले कई महीनों से दिल्ली विकास प्राधिकरण में लंबित था. अब यह जमीन जेल विभाग को सौंप दी गई है. जल्द ही जेल विभाग जेल बनाने का काम शुरू करेगा.

हाल में दिल्ली की 3 जेलों में 19691 कैदी बंद हैं. जबकि, क्षमता की बात करें तो तीनों जिलों में 10 हजार कैदी रखने की क्षमता है. यानी करीब 9000 से ज्यादा कैदी जेल में ज्यादा रखे जा रहे हैं. फिलहाल दिल्ली में तिहाड़, मंडोली और रोहिणी जेल मौजूद है. अब इस कड़ी में नरेला जेल का भी नाम जुड़ने जा रहा है.

कैदियों की सुरक्षा का खतरा
जेल विभाग ने डीडीए से जमीन एक करोड़ 28 लाख रुपए अदा करके हासिल की है. आपको बता दें कि तिहाड़ जेल में फिलहाल 5200 कैदियों की रखने की क्षमता है, लेकिन यहां 13 हजार से ज्यादा कैदी बंद हैं. इसी तरह 1050 कैदियों के क्षमता रोहिणी जेल में है. यहां पर दो हजार से ज्यादा कैदी बंद हैं. जबकि, मंडोली जेल में 3776 कैदियों की क्षमता होने के बावजूद यहां 4341 कैदी बंद हैं. कुल मिलाकर तीनों जगह करीब दोगुना से ज्यादा कैदी बंद हैं. जिसके चलते कैदियों की सुरक्षा का खतरा भी बना रहता है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें