scorecardresearch
 

दिल्ली में स्मॉग का कहर, CISF के जवान बने 'मास्कमैन'

सीआईएसएफ से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक CISF ने 16000 मास्क अपने जवानों को बांटे हैं इनमें से 8000 मास्क दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग मेट्रो स्टेशन पर CISF के जवानों को दिए गए हैं. वहीं CISF ने 5000 मास्क एयरपोर्ट की सुरक्षा में लगे हुए जवानों को दिए हैं.

X
गृह मंत्रालय की सुरक्षा में तैनात जवान गृह मंत्रालय की सुरक्षा में तैनात जवान

दिल्ली-एनसीआर में स्मॉग का कहर इतना बढ़ता जा रहा है कि अलग-अलग सरकारी दफ्तरों में काम कर रहे सीआईएसएफ के जवानों को प्रदूषण से कोई नुकसान ना इसीलिए जवानों को N-95 क्षमता के मास्क दिए गए हैं. सीआईएसएफ के जवान गृह मंत्रालय के साथ-साथ कई महत्वपूर्ण सरकारी इमारतों की सुरक्षा में लगे हुए हैं.

सीआईएसएफ से मिली जानकारी के मुताबिक अब तक CISF ने 16000 मास्क अपने जवानों को बांटे हैं इनमें से 8000 मास्क दिल्ली-एनसीआर के अलग-अलग मेट्रो स्टेशन पर CISF के जवानों को दिए गए हैं. वहीं CISF ने 5000 मास्क एयरपोर्ट की सुरक्षा में लगे हुए जवानों को दिए हैं. CISF से मिली जानकारी के मुताबिक इन मास्क के जरिए चौबीसों घंटे एयरपोर्ट मेट्रो और दूसरी जगहों की सुरक्षा कर रहे जवानों को सांस की समस्या ना हो इसलिए ऐसे मास्क दिए गए हैं. यही नहीं CISF ने 3000 मास्क उन सरकारी इमारतों की सुरक्षा करने वाले CISF के जवानों को दिए हैं जो दिन-रात वहां पर तैनात रहते हैं.

आपको बता दें कि आज दिन भर दिल्ली-एनसीआर की आबोहवा बिगड़ी रही. हवा की गुणवत्ता गंभीर स्थिति में पहुंच गई हैं. केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के अनुसार, इसकी एक बड़ी वजह पंजाब और हरियाणा से आने वाली हवाएं हैं क्योंकि इस वक्त हरियाणा और पंजाब में पराली जलाई जा रही है. इसलिए हवा प्रदूषित हो गई है. हाई कोर्ट ने भी इन राज्यों की सरकारों से पराली जलाने के खिलाफ की गई कार्रवाई के बारे में जवाब मांगा है. साथ ही दिल्ली में वाहनों पर पार्किंग शुल्क 4 गुना बढ़ाने के निर्देश जारी किए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें