scorecardresearch
 

दिल्ली: BJP ने लिखा एलजी को पत्र, कहा- कोरोना में तैनात सिविल डिफेंस जनता से लूट रहे 2000 रुपये

दिल्ली बीजेपी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि जो लोग मास्क पहनकर नहीं निकलते हैं उन पर सिविल डिफेंस के लोग ₹2000 का जुर्माना वसूल रहे हैं जिससे आम लोगों बेहद परेशान हैं. 

कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना जरुरी है कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनना जरुरी है
स्टोरी हाइलाइट्स
  • दिल्ली बीजेपी ने एलजी को लिखा पत्र
  • 'सिविल डिफेंस के लोग गलत जुर्माना वसूल रहे'

दिल्ली बीजेपी ने उपराज्यपाल (LG) अनिल बैजल को पत्र लिखकर दिल्ली सरकार के द्वारा सिविल डिफेंस में बड़ी संख्या में की जा रही वॉलिंटियर भर्ती पर सवाल खड़े किए हैं. राजधानी दिल्ली में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और ऐसे में कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली सरकार ने राजधानी के अलग-अलग इलाकों में बड़ी संख्या में सिविल डिफेंस के वॉलिंटियर्स तैनात किए हैं. ताकि लोग सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क पहनकर ही बाहर घूमने निकलें. लेकिन जो लोग मास्क पहनकर नहीं निकलते हैं उन पर सिविल डिफेंस के लोग 2,000 रुपये का जुर्माना वसूल रहे हैं जिससे आम आदमी परेशान हैं.

बीजेपी का आरोप है कि इनकी भर्ती प्रक्रिया संदिग्ध है. इसमें पारदर्शिता की कमी तो है ही, साथ ही इसमें कोई गाइडलाइन का पालन भी नहीं हो रहा है. किसी भी उम्र के व्यक्ति की भर्ती की जा रही है. उपराज्यपाल को लिखे पत्र में कहा गया है कि ऐसी जानकारी है कि इन वॉलिंटियरों की भर्ती, परदे के पीछे से वह एजेंसी कर रही हैं जो ऑड-ईवन स्कीम के लिए वॉलिंटियर्स भर्ती करती थी. उन्होंने कहा कि इनमें से अधिकांश के सत्ताधारी आम आदमी पार्टी से जुड़े होने की भी चर्चा है.

इन वॉलिंटियरों की ड्यूटी तैनाती पर भी सवाल उठ रहे हैं. इनको लगाने का मकसद था कि लोगों को कोरोना के दौरान मास्क पहनने के लिए प्रोत्साहित करना. लेकिन वह चालान काटने के अधिकारी बन बैठे हैं.

'खाकी वर्दी का रंग भी बदले'

दिल्ली बीजेपी प्रवक्ता प्रवीण शंकर कपूर ने सिविल डिफेंस की कर्मियों पर आरोप लगाते हुए यह भी कहा कि चालान की आड़ में यह लोग दिल्ली की जनता से पैसे वसूल रहे हैं. जिससे आम जनता परेशान है.

बता दें कि पिछले दिनों ही दिल्ली पुलिस इस सब पर चिंता प्रकट कर चुकी है और इन वॉलिंटियरों का खाकी वर्दी पहनना भी आपत्तिजनक है. भाजपा प्रवक्ता ने उपराज्यपाल से मांग की है कि वह सिविल डिफेंस भर्ती प्रक्रिया के साथ ही इनकी ड्यूटी पर लगाए जाने के सिस्टम की भी जांच के आदेश दें इसके साथ ही इनकी खाकी वर्दी का रंग बदलने का भी आदेश दें.

बीते मंगलवार को दिल्ली के हौज खास में सिविल डिफेंस की वॉलिंटियर्स और आम लोगों के बीच हाथापाई का एक वीडियो वायरल हुआ था. जिसके बाद इस मामले पर दिल्ली पुलिस ने केस भी रजिस्टर किया है. हालांकि यह पहली बार नहीं है कि सिविल डिफेंस के वॉलिंटियर्स के साथ मारपीट का वीडियो वायरल हुआ हो. इससे पहले भी कई वीडियो सामने आए हैं. हालांकि दिल्ली सरकार की तरफ से अभी तक इस मामले पर कोई प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है.
 


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें