scorecardresearch
 

'AAP के विधायकों ने कर दी है केजरीवाल की बोलती बंद'

सतीश उपाध्याय ने कहा कि हर बात पर प्रधानमंत्री को कोसने वाले केजरीवाल के पास अपने विधायकों की करतूतों का जवाब नहीं है, इसलिए मजबूरी में उन्होंने विपश्यना पर जाने का फैसला लिया है.

सतीश उपाध्याय सतीश उपाध्याय

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल विपश्यना करने धर्मशाला गए हैं, वह अब 12 दिनों तक मौन रहेंगे. लेकिन केजरीवाल के मौन होते ही बीजेपी ने उन पर बयानों की बौछार कर दी है. दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने केजरीवाल के मौन व्रत पर चुटकी ली है. उन्होंने कहा कि केजरीवाल अपने विधायकों के कारनामों से परेशान हैं, विधायक जिस तरह से कानूनी पचड़ों में फंस रहे हैं, केजरीवाल की बोलती बंद हो गई है.

सतीश उपाध्याय ने कहा कि हर बात पर प्रधानमंत्री को कोसने वाले केजरीवाल के पास अपने विधायकों की करतूतों का जवाब नहीं है, इसलिए मजबूरी में उन्होंने विपश्यना पर जाने का फैसला लिया है. केजरीवाल पहले भी विपश्यना कर चुके हैं. इस दौरान वो रोजमर्रा की गतिविधियों से दूर एकांत में रहते हैं और ध्यान लगाते हैं.

केजरीवाल का बढ़ जाता है प्रेशर
दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष उपाध्याय के मुताबिक, दिल्ली में जब भी सीएम अरविंद केजरीवाल पर प्रेशर बढ़ता है, वो यहां से निकलने का बहाना तलाशते हैं. ध्यान और मौन व्रत के नाम पर विवादों से पीछा छुड़ाने की उनकी पुरानी आदत है.

'काम की बारी आने पर भाग जाते हैं केजरीवाल'
बीजेपी के राष्ट्रीय मंत्री आरपी सिंह भी केजरीवाल के मौन पर निशाना साधने में पीछे नहीं रहे. उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि असली साधना दिल्ली की जनता की सेवा होनी चाहिए, लेकिन केजरीवाल मौन और विपश्यना के नाम पर अपनी जिम्मेदारी से भाग जाते हैं. उन्होंने कहा, 'इस वक्त दिल्ली को अपने मुख्यमंत्री की जरूरत है, जो उनकी समस्याओं को सुलझाए, दिल्ली के विकास की योजना बनाए, लेकिन केजरीवाल जब तक दिल्ली में रहते हैं झगड़ा करते हैं. काम करने के वक्त दिल्ली से भाग जाते हैं.'

गौरतलब है कि हाल के दिनों में आम आदमी पार्टी के एक के बाद एक कई विधायक विवादों में फंसे हैं. अब तक 'आप' के 12 विधायक के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज किया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें