scorecardresearch
 

हिंसा पर तेजस्वी बोले- 14 दिन बिहार में रुके थे भागवत, ट्रेनिंग दे गए

तेजस्वी ने कहा कि पूरे बिहार में जिस तरीके से बीजेपी और आरएसएस के लोग दंगा भड़का रहे हैं वो चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि आपको याद होगा कि बिहार में मोहन भागवत 14 दिनों तक रुके थे, अपनी यात्रा में वो इस घटना को डिजाइन करके गए थे.

X
फाइल फोटोः तेजस्वी यादव फाइल फोटोः तेजस्वी यादव

बिहार में फैली हिंसा की आग थमने का नाम नहीं ले रही है. पहले राज्य के 6 जिलों में हिंसा फैली हुई थी जिसके बाद शुक्रवार सुबह भी नवादा में माहौल बिगड़ने की बात सामने आई थी. अब इस मुद्दे पर बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर सीधा निशाना साधा है.

तेजस्वी ने कहा कि पूरे बिहार में जिस तरीके से बीजेपी और आरएसएस के लोग दंगा भड़का रहे हैं वो चिंताजनक है. उन्होंने कहा कि आपको याद होगा कि बिहार में मोहन भागवत 14 दिनों तक रूके थे, अपनी यात्रा में वो इस घटना को डिजाइन करके गए थे. तेजस्वी ने कहा कि 14 दिन वो लोगों को यही ट्रेनिंग देकर गए हैं, अब लोगों को उनका एजेंडा समझ आ रहा है. इन लोगों को पहले ही पता था कि ये लोग उपचुनाव में हार रहे हैं, इस वजह से ये ऐसा कर रहे हैं.

नवादा में क्या हुआ?

गौरतलब है कि बिहार के नवादा में बजरंगबली की मूर्ति तोड़े जाने को लेकर दो समुदाय के बीच काफी झड़प हुई है. हिंसा में कई गाड़ियों के शीशे तोड़े गए हैं. हालात को काबू में लाने के लिए पुलिस ने अभी तक 10 राउंड की फायरिंग की है. आपको बता दें कि नवादा केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह का संसदीय क्षेत्र है.

बताया जा रहा है कि गुरुवार रात को नवादा बाईपास पर बजरंगबली की मूर्ति को तोड़ दिया गया था, जिसके बाद से ही हालात बेकाबू होते चले गए. गाड़ियों को तोड़ने के अलावा कई दुकानों में भी आग लगा दी गई. जिला प्रशासन ने इंटरनेट सेवा पर रोक लगा दी है. 

6 जिलों में फैली है हिंसा

रामनवमी के मौके पर बिहार में फैली हिंसा की चिंगारी राज्य के 6 जिलों में पहुंच गई थी. कई इलाकों में धारा 144 लागू की गई है. बीते चार दिनों में समस्तीपुर, मुंगेर, औरंगाबाद, नालंदा, भागलपुर और अररिया में हालात बिगड़े हैं. वहीं गैर जमानती वारंट होने के बावजूद अभी भी अर्जित चौबे पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें