scorecardresearch
 

'बेचारा सीएम' बन गए हैं नीतीश कुमार, दबाव में कर रहे काम: सुशील मोदी

राजधानी एक्सप्रेस की घटना के बाद नीतीश कुमार पर विरोधियों के वार तेज होे गए हैं. बिहार में बढ़ते अपराधों के मामले में बीजेपी नेता सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नीतीश कुमार को 'बेचारा सीएम' कहा.

बिहार के CM नीतीश कुमार बिहार के CM नीतीश कुमार

बिहार के सीएम नीतीश कुमार के एक विधायक पर छेड़खानी का केस दर्ज किया गया है. इस घटना के बाद से नीतीश कुमार विरोधियों के निशाने पर हैं. बिहार में बढ़ते अपराधों के मद्देनजर बीजेपी नेता सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके नीतीश कुमार को 'बेचारा सीएम' बताया.

सुशील मोदी ने कहा कि 'हमने फैसला किया था कि महागठबंधन के छह महीने के हनीमून पीरियड में हम कुछ नहीं कहेंगे. लेकिन बिहार में बढ़ती आपराधिक घटनाओं के मद्देनजर मजबूरन हमें बोलना पड़ रहा है.' उन्होंने कहा 'सत्ताधारी दल के विधायक कानून तोड़ रहे हैं और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार , लालू यादव और कांग्रेस के दबाव में आकर उनपर ठोस कार्रवाई नहीं कर रहे हैं. नीतीश कुमार के पास सरफराज आलम पर कार्रवाई करने की हिम्मत नहीं है. नीतीश तो केवल बेचारे सीएम बनकर रह गए हैं.'

सरफराज ने खारिज किया आरोप
गौरतलब हो कि दिल्ली की एक महिला ने आरोप लगाया है कि दिल्ली से गुवाहाटी जाने वाली राजधानी एक्सप्रेस में सफर करते वक्त जेडीयू विधायक सरफराज आलम और उनके बॉडीगार्ड ने उनके साथ बदसलूकी की. हालांकि जेडीयू विधायक सरफराज आलम ने छेड़छाड़ के आरोपों से इनकार करते हुए कहा है कि उन्होंने उस दिन ट्रेन से सफर ही नहीं किया. इस घटना को सुशील मोदी ने शर्मनाक बताया है. उन्होंने कहा सरफराज के खिलाफ ठोस कदम उठाए जाने के बजाय बिहार सरकार उनका बचाव कर रही है. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि बिहार में बढ़ते अपराध के लिए नीतीश कुमार काफी परेशान और बौखलाएं हुए हैं. लेकिन वह जानते हैं कि पांच साल से पहले कुछ नहीं होगा, क्योंकि चुनाव पांच साल बाद ही होते हैं.

JDU विधायक का केस भी उठाया गया
बीजेपी नेता सुशील मोदी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर पूर्णिया की घटना को भी उठाया. उन्होंने जेडीयू विधायक बीमा भारती पर अपने अपराधी पति को पुलिस लॉक-अप से फरार करवाने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि अगर नीतीश कुमार के पास अधिकार हैं तो वह बीमा भारती और संतोष कुशवाहा के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करते. साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि जबतक नीतीश जेडीयू और आरजेडी के विधायकों की नकेल नहीं कसते तब तक बिहार में कानून व्यवस्था काम नहीं की जा सकेगी.

राज्यपाल से मिलेंगे बीजेपी नेता
प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह भी कहा गया कि नीतीश कुमार के लिए बीमा भारती, और सरफराज का मामला लिटमस टेस्ट साबित होगा. हम जल्द ही गवर्नर से मिलेंगे और बिहार में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर मेमोरेंडम सौंपेंगे. जेडीयू सपना देख रही है कि जब वो यह कह सके कि 2019 के आम चुनाव में नीतीश कुमार प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनेंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें