scorecardresearch
 

बिहार चुनाव के बाद से निशाने पर कांग्रेस, सपा ने कहा- अच्छा किया होता तो महागठबंधन की सरकार होती

बिहार में विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस पार्टी पर लगातार निशाना साधा जा रहा है. पहला आरजेडी नेता ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा अब समाजवादी पार्टी ने भी इशारों में कांग्रेस पर हमला बोल दिया है.

X
कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फाइल फोटो)
कांग्रेस नेता राहुल गांधी (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • महागठबंधन में कांग्रेस के प्रदर्शन पर सपा ने उठाए सवाल
  • आरजेडी ने भी साधा राहुल गांधी पर निशाना
  • आरजेडी के आरोपों पर कांग्रेस ने भी किया पलटवार

बिहार विधानसभा चुनाव में मिली हार के बाद से महागठबंधन में दरार पड़ती नजर आ रही है. आरजेडी और कांग्रेस दोनों के बीच आरोप-प्रतिरोप का सिलसिला जारी है. इसी बीच समाजवादी पार्टी ने भी इशारों-इशारों में कांग्रेस पर हमला बोल दिया है. पार्टी के प्रवक्ता अनुराग भदौरिया ने कहा कि अगर कांग्रेस ने अच्छा प्रदर्शन किया होता तो बिहार में आज महागठबंधन की सरकार होती.

आरजेडी नेता ने राहुल गांधी पर लगाए कई आरोप
इससे पहले आरजेडी नेता शिवानंद तिवारी ने कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि राहुल गांधी की कार्यशैली के कारण ही बीजेपी को मदद मिल रही है. उन्होंने कांग्रेस को महागठबंधन के लिए बाधा बताते हुए कहा कि कांग्रेस ने बिहार में 70 उम्मीदवारों को मैदान में उतारा, लेकिन 70 रैलियां भी नहीं कीं.

देखें आजतक लाइव TV
शिवानंद तिवारी इतने पर नहीं रुके, उन्होंने कहा कि राहुल गांधी बिहार में बस तीन दिन के लिए आये, प्रियंका नहीं आई क्योंकि, वह बिहार से उतनी अच्छी तरह से परिचित नहीं हैं. बिहार में जिस वक्त चुनावी माहौल था तब राहुल शिमला में प्रियंका गांधी के घर पिकनिक मना रहे थे. क्या इस तरह से पार्टी चलती है? बीजेपी को इसी कारण फायदा मिल रहा है.

शिवानंद तिवारी के बयान पर कांग्रेस का पलटवार
शिवानंद तिवारी के इस बयान के बाद कांग्रेस नेता प्रेम चंद्र मिश्रा ने कहा कि राजद नेता शिवानंद तिवारी लगाम लगायें. गिरिराज सिंह और शाहनवाज हुसैन जैसी भाषा राजद नेता का बोलना हमें स्वीकार नहीं है. कांग्रेस नेता ने कहा कि गठबंधन का धर्म होता है जिसका पालन सभी पक्षों को करना चाहिए.

कांग्रेस और आरजेडी के बीच चल रहे  इस वार-पलटवार में अब सपा भी कूद आई है. हालांकि, बिहार की राजनीति में सपा का कोई दखल नहीं है लेकिन 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में सपा और कांग्रेस ने मिलकर चुनाव लड़ा था. दोनों पार्टियों का प्रदर्शन काफी खराब रहा था. उस वक्त भी कांग्रेस के साथ सपा के गठबंधन को लेकर तमाम सवालिया निशान लगे थे. यहां तक कि बिहार चुनाव में भी पीएम नरेंद्र मोदी ने यूपी के दो लड़कों (राहुल और अखिलेश) का उदाहरण देते हुए बिहार चुनाव के दो लड़कों (राहुल और तेजस्वी) को जनता द्वारा सबक सिखाने की बात कही थी.

अब जबकि चुनाव नतीजे महागठबंधन के पक्ष में नहीं आ सके हैं तो आपस में छींटाकशी भी चल रही है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें