scorecardresearch
 

मुजफ्फरपुर: युवक बोला- अगर भाई का इलाज नहीं कर सकते तो मुझे भी मार दो

वीडियो में एक शख्स बिना कपड़ों के दिख रहा है. मीडिया की टीम देखकर मरीजों के तीमारदार अपनी तकलीफें लेकर कैमरा की ओर दौड़ पड़े. इस शख्स ने अस्पताल में लेटे अपने भाई की ओर इशारा करते हुए कहा, मेरा भाई यहां पिछले दो महीने से भर्ती है, मैंने इसे खून दिया है, मेरे भतीजे ने खून दिया है. सुनने के लिए कोई तैयार नहीं है.

पीड़ित युवक का भाई मुजफ्फरपुर के SKMCH में भर्ती है. (वीडियो ग्रैब) पीड़ित युवक का भाई मुजफ्फरपुर के SKMCH में भर्ती है. (वीडियो ग्रैब)

बिहार के मुजफ्फरपुर के श्रीकृष्ण मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (SKMCH) में चमकी बुखार तो यमराज बनकर तो आया ही है. इस अस्पताल में दूसरी बीमारियों का इलाज करवा रहे लोग भी त्राहिमाम कर रहे हैं. SKMCH में एक शख्स इलाज में कोताही से इतना तंग आ गया कि वो कहने लगा कुछ नहीं हो सकता है तो हमें भी मार दो.

समाचार एजेंसी एएनआई ने इस शख्स का एक वीडियो भी जारी किया है. इस वीडियो में ये शख्स बिना कपड़ों के दिख रहा है. मीडिया की टीम देखकर मरीजों के तीमारदार अपनी तकलीफें लेकर कैमरा की ओर दौड़ पड़े. इस शख्स ने अस्पताल में लेटे अपने भाई की ओर इशारा करते हुए कहा, "मेरा भाई यहां पिछले दो महीने से भर्ती है, मैंने इसे खून दिया है, मेरे भतीजे ने खून दिया है. सुनने के लिए कोई तैयार नहीं है...क्या करें हम...या तो हमको भी जान से मार दे..."

इस शख्स ने कहा कि अस्पताल में नेता आ रहे हैं लेकिन सुनने के लिए कोई तैयार नहीं है. उसने कहा कि उसके घर में उसका बीमार भाई ही एक मात्र कमाने वाला है. पत्रकारों ने जब इस शख्स ने पूछा कि क्या किसी ने उसके साथ हाथापाई की है तो इस युवक ने किसी का नाम तो नहीं बताया लेकिन इतना जरूर कहा कि अगर वो किसी के खिलाफ बोला तो डॉक्टर उसके भाई को दूसरे अस्पताल में रेफर कर देंगे.

चमकी बुखार से अबतक 93 की मौत

बता दें कि SKMCH ही मुजफ्फरपुर का वो अस्पताल है, जहां चमकी बुखार से पीड़ित बच्चे भर्ती हैं. रविवार को इस बीमारी से मरने वाले बच्चों की संख्या 93 हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन रविवार को इस अस्पताल की व्यवस्था का जायजा लेने यहां पहुंचे थे. हर्षवर्धन ने कहा कि इस बीमारी का कारण गर्मी और नमी है. उन्होंने कहा कि इस बीमारी पर रिसर्च के लिए एक्सपर्ट की एक टीम को निर्देश दिया गया है. उन्होंने कहा कि अस्पताल में ICU की व्यवस्था ठीक नहीं है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि इस अस्पताल में एक्सक्लूसिव पेडियाट्रिक आईसीयू बनाने को कहा गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें