scorecardresearch
 

नौवीं बार RJD अध्यक्ष बने लालू, कहा- मोदी के रहते देश सुरक्षि‍त हाथों में नहीं

अध्यक्ष चुने जाने के बाद अपने संबोधन में लालू प्रसाद ने कहा, 'हमारे और नीतीश में कोई विरोध नहीं है. हर बात पर एकजुटता है.'

आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद

लालू प्रसाद नौवीं बार राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष चुन लिए गए हैं. आरजेडी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक में पार्टी के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी जगदानंद सिंह ने प्रसाद के अध्यक्ष पद पर चुने जाने की घोषणा की. जिसके बाद अपने संबोधन में लालू ने जहां नीतीश के साथ एकजुटता की बात दोहराई, वहीं केंद्र और प्रधानमंत्री मोदी पर जमकर निशाना साधा.

अध्यक्ष चुने जाने के बाद अपने संबोधन में लालू प्रसाद ने कहा, 'हमारे और नीतीश में कोई विरोध नहीं है. हर बात पर एकजुटता है, आपस में नीतीश कुमार से हर मुद्दे पर खूब बात होती है, लेकिन इसका हम ढिंढोंरा नहीं पीटते. ये बात अखबारों में नहीं आती.'

बीजेपी और पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा, 'हम और नीतीश मिलकर बीजेपी का सपना चकनाचूर करेंगे. मोदी के रहते देश सुरक्षित हाथों में नहीं है. बताओ, पठानकोट में आतंकी कैसे घुस गया, हमारे जवानों को मारा.'

'RSS मोदी को क्यों डिक्टेट करता है'
दूसरी ओर, बिहार बीजेपी द्वारा राज्य में सत्ता के सारथी बने आरजेडी प्रमुख की सरकार में हैसियत को लेकर लगातार हो रही बयानबाजी पर भी लाल प्रसाद ने कड़ी टिप्पणी की. उन्होंने कहा, 'बिहार में हमारे हैसियत पर बीजेपी के नेता लोग सवाल उठाते हैं, तो पहले बीजेपी बताए कि आरएसएस किस हैसियत से मोदी सरकार को डिक्टेट करता है.'

...और सड़कों पर लगा जाम
इससे पहले श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल के लिए लालू का काफिला निकला. करीब 6 किमी की दूरी तय करने के लिए 45 मिनट का वक्त लगा. इस दौरान सड़कें बंद किए जाने के कारण को खासी परेशानी हुई. उनके काफिले को 25 मोटरसाइकिलें स्कॉट कर रही थीं. लालू के 10 सर्कुलर रोड स्थित बंगले से सम्मेलन स्थल श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल तक पार्टी के सदस्यों ने जमकर स्वागत किया. मार्ग में 8 जगहों पर स्वागत गेट बनाए गए थे, जहां फूलों की बारिश की गई. सम्मेलन में पूरे देश से आए 700 मेहमान शामिल हुए.

बतौर पार्टी अध्यक्ष लालू प्रसाद का मौजूदा कार्यकाल 2016-19 तक होगा. इस पद के लिए नामांकन पत्र दाखिल करने वाले यादव एक मात्र उम्मीदवार थे. यादव साल 1997 में आरजेडी के गठन के बाद से ही लगतार अध्यक्ष के पद पर हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें