scorecardresearch
 

विवादों में बिहार का वैक्सीनेशन रिकॉर्ड, मृतक के नाम सर्टिफिकेट जारी करने का दावा

आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार को बिहार (Bihar) में सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाई गई. लेकिन बिहार का यह कीर्तिमान अब विवादों में घिरता नजर आ रहा है.

बिहार में वैक्सीनेशन को लेकर गड़बड़ी के आरोप लगे हैं. (फाइल फोटो) बिहार में वैक्सीनेशन को लेकर गड़बड़ी के आरोप लगे हैं. (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मृत महिला के नाम से वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट जारी होने का दावा
  • फुल वैक्सीनेटेड के नाम पर दोबारा जारी किया गया सर्टिफिकेट

बीते 17 सितंबर को पीएम मोदी (PM Modi) के जन्मदिन के मौके पर देशभर में जोरदार वैक्सीनेशन अभियान (Vaccination Drive) चलाया गया. आंकड़ों के मुताबिक शुक्रवार को बिहार (Bihar) में सबसे ज्यादा वैक्सीन लगाई गई. लेकिन बिहार का यह कीर्तिमान अब विवादों में घिरता नजर आ रहा है.

कई लोगों ने वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) में धांधली का दावा किया है. कहा जा रहा है कि सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन करने की होड़ में बिहार में मृत महिला को भी वैक्सीन लगा दी गई. जिनको पहले ही वैक्सीन लग चुकी है, उनके नाम पर भी फिर से सर्टिफिकेट जारी कर दिया गया.

दरअसल,पीएम मोदी के जन्मदिन पर बिहार में 30 लाख से ज्यादा वैक्सीनेशन हुआ, जो देश में सबसे ज्यादा रहा. लेकिन अब कुछ ऐसे मामले सामने आ रहे हैं जिससे ये आशंका जाहिर हो रही है कि रिकॉर्ड बनाने के चक्कर में फर्जी वैक्सीन सर्टिफिकेट भी जारी हुए.

पूर्णिया के रहने वाली एक महिला की कोरोना के चलते 18 मई को हो चुकी है, उनके परिवार को सरकार से 4 लाख का मुआवजा तक मिल चुका है लेकिन 17 सितंबर के मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव में मृतक महिला के नाम से भी सेकेंड डोज़ का सर्टिफिकेट जारी कर दिया गया.

मृतक महिला के बेटे ने बताया कि उनकी मां ने 26 अप्रैल को कोविशिल्ड वैक्सीन की पहली डोज ली थी लेकिन 18 मई को कोरोना से उनकी मौत हो गई, लेकिन 17 सितंबर को शाम को फोन पर वैक्सीनेशन का मैसेज देखकर वो हैरान रह गए. उन्होंने बताया कि उन्हें तो सरकार से मुआवजा तक मिल चुका है, सरकार फर्जीवाड़ा कर रही है.

इसी तरह का एक और मामला पूर्णिया से ही सामने आया है. यहां के एक अन्य युवक का कहना है कि उसके पिता को कोवैक्सीन की पहली डोज़ 5 जून और दूसरी डोज़ 23 जुलाई को ही लग चुकी है. लेकिन, 17 सितंबर के मेगा वैक्सीनेशन ड्राइव में उनके पिता के नाम पर फिर से वैक्सीन की दूसरी डोज़ का सर्टिकिकेट जारी कर दिया गया.

इस मामले पर पूर्णिया के जिलाधिकारी राहुल कुमार ने कहा कि उन्हें अभी तक इसकी जानकारी नहीं है. कल (शुक्रवार) 1 लाख से ज्यादा वैक्सीन लगाई गई है, अगर इस तरह के कुछ एक मामले हैं तो इन्हें अपवाद ही माना जायेगा. लेकिन फिर भी हम इन मामलों को देखेंगे और अपने स्तर से भी जांच कराएंगे और अगर कोई दोषी पाया जाता है, तो उसपर कार्रवाई भी करेंगे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें