scorecardresearch
 

बिहार: पूर्व मुखि‍या बैजनाथी सिंह की हत्या मामले में एसआईटी गठित

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) सुनील कुमार ने बताया कि बैजनाथी सिंह की हत्या आपसी रंजिश का परिणाम है. उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों के बयान के आधार पर फतुहा थाने में हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है.

X
रामविलास पासवान के साथ बैजनाथी सिंह
रामविलास पासवान के साथ बैजनाथी सिंह

बिहार के वैशाली जिला के फतेहपुर पंचायत के पूर्व मुखिया बैजनाथी सिंह की हत्या मामले में 24 घंटे बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं. जबकि उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इलाके में दिनदहाड़े हुई इस हत्या के बाद राजनीतिक बयानबाजी तेज हो गई है. मामले की जांच लेकर शनिवार को विशेष जांच टीम (एसआईटी) का भी गठन किया गया है.

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक (मुख्यालय) सुनील कुमार ने बताया कि बैजनाथी सिंह की हत्या आपसी रंजिश का परिणाम है. उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों के बयान के आधार पर फतुहा थाने में हत्या की प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है. कुमार ने कहा, 'दर्ज प्राथमिकी में वैशाली जिला के राघोपुर थाना के फतेहपुर गांव निवासी मुन्ना सिंह और राणा रणविजय, रुस्तमपुर गांव निवासी सुनील राय और सुबोध को नामजद आरोपी बनाया गया है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी कर रही है'

ललित मोहन के नेतृत्व में एसआईटी
दूसरी ओर, पटना के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज ने बताया कि बैजनाथी सिंह हत्याकांड मामले की जांच और आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पटना पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) ललित मोहन के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है. उन्होंने दावा किया कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा.

गौरतलब है कि कच्ची दरगाह घाट के निकट शुक्रवार को अज्ञात अपराधियों ने एके-47 से अंधाधुंध गोलीबारी कर बैजनाथी सिंह की हत्या कर दी थी. सिंह पूर्व मुखिया थे, जबकि उनकी पत्नी एलजेपी के टिकट पर राबड़ी देवी के खिलाफ लड़ चुकी हैं. बैजनाथी सिंह के बेटे राकेश रंजन ने विधानसभा चुनाव में सपा के टिकट पर तेजस्वी के खिलाफ चुनाव लड़ा था.

चिराग ने की राष्ट्रपति शासन की मांग
इधर, बैजनाथी सिंह की हत्या के बाद बिहार की राजनीति गरम हो गई है. एलजेपी के सांसद चिराग पासवान बढ़ते आपराधि‍क मामलों को लेकर बिहार में राष्ट्रपति शासन लागू करने की मांग कर रहे हैं, वहीं जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि राज्य सरकार सुशासन के दावे पर कायम है.

चिराग पासवान ने कहा, 'बिहार में बदले की भावना से लगातार राजनीतिक हत्याएं हो रही हैं. बैजनाथी सिंह की हत्या इसका प्रमाण है. राज्य में अपराधी बेखौफ हो हो चुके हैं.' उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर राज्य में कानून की स्थिति नहीं सुधरी तो एलजेपी सदन से सड़क तक इस मामले को उठाएगी.

'सरकार के खिलाफ साजिश'
जेडीयू के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह ने कहा, 'हाल के दिनों में राज्य में आपराधिक प्रवृत्ति बढ़ी है. राज्य को अस्त-व्यस्त करने की साजिश हो रही है, लेकिन ऐसे लोगों को सरकार कुचल देगी.'

बिहार में बीजेपी के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष प्रेम कुमार ने कहा कि बिहार में हत्याओं का दौर जारी है. उन्होंने राज्य सरकार पर अपराधियों को संरक्षण देने का आरोप लगाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें