scorecardresearch
 

'लालू फोन करके विधायकों को प्रलोभन दे रहे हैं'... मुकेश सहनी और मांझी का आरोप

नीतीश सरकार में मंत्री और वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने लालू यादव पर फोन करके समर्थन मांगने का आरोप लगाया है. वहीं, पूर्व सीएम जीतनराम मांझी का भी दावा है किलालू यादव ने उनसे भी बात करने की कोशिश की थी.

लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो) लालू प्रसाद यादव (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जीतनराम मांझी ने की जांच की मांग
  • मुकेश सहनी भी लगाए आरोप

बिहार की राजनीति में एक कथित फोन कॉल के बाद भूचाल मचा हुआ है. भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) नेता सुशील मोदी ने आरोप लगाया कि राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) चीफ लालू प्रसाद यादव रांची से फोन करके एनडीए के विधायकों को तोड़ने की कोशिश कर रहे हैं. सुशील मोदी के बाद अब मुकेश सहनी और जीतनराम मांझी ने भी यही आरोप लगाया है.

नीतीश सरकार में मंत्री और वीआईपी के अध्यक्ष मुकेश सहनी ने लालू यादव पर फोन करके समर्थन मांगने का आरोप लगाया है. वहीं, पूर्व सीएम जीतनराम मांझी का भी दावा है किलालू यादव ने उनसे भी बात करने की कोशिश की थी. साथ ही उनके विधायकों को भी प्रलोभन दिया था. मांझी ने इस मामले की जांच की मांग की.

पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने आरोप लगाया है कि नीतीश कुमार सरकार को गिराने के लिए उनके पास भी जेल से आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव का फोन आया था. जीतन राम मांझी ने आज यह सनसनीखेज खुलासा किया.  मांझी ने बताया कि लालू ने जेल से उन्हें फोन किया था और उनसे बात करने की इच्छा जताई थी मगर उन्होंने बात नहीं की.

पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा कि लालू प्रसाद जेल में बैठकर राजनीति कर रहे हैं और यह एक गलत परंपरा है और मैं मांग करता हूं कि इसकी जांच होनी चाहिए. मेरे विधायकों को भी संपर्क करके मंत्री बनाने का प्रलोभन दिया गया था. 

जीतन राम मांझी का यह खुलासा तब आया है जब पूर्व उप मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील कुमार मोदी ने लालू प्रसाद से उनके पार्टी के विधायक ललन पासवान की बातचीत का एक ऑडियो वायरल किया. इस बातचीत में लालू प्रसाद बीजेपी विधायक ललन पासवान को महागठबंधन के पक्ष में वोट करके नीतीश सरकार को गिराने की बात कह रहे थे.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें