scorecardresearch
 

जेडीयू-बीजेपी में सब ऑल इज वैल? मंत्री बोले- पति-पत्नी में नोकझोंक होती रहती है

बिहार में जेडीयू और बीजेपी के बीच नोकझोंक की खबरें आती रहती हैं. अब मंत्री और जदयू नेता विजेंद्र प्रसाद यादव ने इस मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने बीजेपी-जेडीयू के रिश्ते की तुलना पति-पत्नी से कर दी है.

X
बिहार सीएम नीतीश कुमार बिहार सीएम नीतीश कुमार
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 'नीतीश कुमार को पार्टी चलाना अच्छे से आता है'
  • 'खटपट तो होती है, मगर सब कुछ ठीक है'

बिहार राजनीतिक रूप से एक ऐसा जागरूक प्रदेश है, जहां कहा जाता है कि देश की सियासी घटनाओं का असर प्रदेश पर हमेशा पड़ता है. लेकिन अब ऐसा नहीं है. क्योंकि बीजेपी और जदयू की गांठ मजबूत हो गई है. ऐसा बिहार सरकार में वरिष्ठ मंत्री और जदयू नेता विजेंद्र प्रसाद यादव का मानना है.

उन्होंने इशारों-इशारों में दोनों दलों को पति-पत्नी की संज्ञा दी है. उन्होंने कहा कि गठबंधन का रिश्ता पति-पत्नी जैसा ही होता है. भले ही कितना भी खटपट हो जाए, रिश्ता टूटता नहीं है. हम अलग-अलग दल हैं, विचारधारा अलग है. इसीलिए खटपट होती रहती है. इसका यह मतलब नहीं कि सरकार पर कोई असर पड़े. हम मंत्रिमंडल में भी एक हैं और हमारे बीच सहमति से कोई भी काम होता है.

अब आप ही सोचिए विजेंद्र यादव का ये बयान उस समय आया है, जब केंद्र की अग्निपथ योजना को लेकर बिहार में बवाल मचा हुआ है. दोनों दलों के  प्रवक्ताओं के साथ जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल आपस में भिड़ चुके हैं. इस बीच विजेंद्र प्रसाद का ये बयान सियासी माहौल को खुशनुमा बनाने वाला है. विजेंद्र ने मीडिया से महाराष्ट्र की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि महाराष्ट्र जैसा बिहार में कुछ नहीं होने जा रहा है. क्या यहां भी जदयू को तोड़ने की कोशिश हो सकती है. इस पर मंत्री ने मुस्कुराते हुए कहा कि नेता में दम होना चाहिए, जो पार्टी को जोड़ के रखे. नीतीश कुमार को पार्टी चलाना अच्छे से आता है. इसी बीच पत्रकारों ने उनसे पूछ लिया कि भाजपा-जदयू के बीच सब कुछ ठीक नहीं दिख रहा.

उन्होंने दोनों दलों के रिश्ते को स्पष्ट करते हुए चुटीले अंदाज में कहा कि पति-पत्नी के बीच भी नोक-झोंक होती है. इसका यह मतलब नहीं कि रिश्ता टूट जाता है. गठबंधन का भी रिश्ता ऐसा ही होता है. हमारे बीच खटपट तो होती है, मगर सब कुछ ठीक है. हम लोग एक साथ हैं, बिहार में सरकार पूरी सुरक्षित है. अग्निपथ योजना को लेकर दोनों दलों के बीच जारी बवाल पर जब पूछा गया तो उन्होंने कहा कि गठबंधन दल एक-दूसरे के गुलाम नहीं होते. सहयोगी होते हैं. इसीलिए किसी भी विषय पर उनकी अपनी-अपनी राय होती है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें