scorecardresearch
 

मुजफ्फरपुर कांड का आरोपी बोला- कांग्रेस में होने वाला था शामिल, लड़ना था चुनाव

सूत्रों के मुताबिक बृजेश ठाकुर के ड्राइवर ने सीबीआई जांच में इस बात की पुष्टि की है कि बृजेश ठाकुर और चंद्रेश्वर वर्मा के बीच में दोस्ती थी और दोनों का साथ में उठना बैठना भी था.

X
बृजेश ठाकुर (फाइल फोटो)
बृजेश ठाकुर (फाइल फोटो)

बिहार के मुजफ्फरपुर में बालिका गृह में हुए बालिकाओं के साथ दुष्कर्म से हर कोई चकित है. इस मामले की कार्रवाई अब सीबीआई कर रही है और मामले में लगातार कई खुलासे हो रहे हैं. इस बीच मामले के मास्टरमांइड बृजेश ठाकुर ने बड़ा बयान दिया है. ठाकुर ने कहा है कि मंजू वर्मा के पति से उनकी सिर्फ राजनीतिक मुद्दों पर बात होती थी.

बृजेश ने कहा कि मेरा मधु वर्मा से कोई रिश्ता नहीं है, जो कुछ हो रहा है वह मेरे खिलाफ साजिश है. ठाकुर ने कहा कि वह कांग्रेस में शामिल होने की सोच रहे थे और कांग्रेस के टिकट पर चुनाव भी लड़ने वाला था. उन्होंने कहा कि जो 54 हजार देने की बात की जा रही है, वो प्रलोभन दिया गया है. ये लोग हमारे अखबार को बंद कराना चाहते हैं. ठाकुर ने कहा कि मुजफ्फरपुर से ही टिकट मिलना तय हो गया था.

दरअसल, मंगलवार को सीबीआई की जांच में बृजेश ठाकुर और समाज कल्याण विभाग की मंत्री कुमारी मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा को लेकर खुलासा हुआ.

सीबीआई की जांच के दौरान बृजेश ठाकुर के 3 सिम कार्ड की कॉल डिटेल्स की जांच की गई. जांच के दौरान इस बात का खुलासा हुआ है कि वह जनवरी से मई तक चंद्रशेखर वर्मा से लगातार संपर्क में था. कॉल डिटेल रिकॉर्ड से पता चला है कि इस दौरान बृजेश ठाकुर ने चंद्रशेखर वर्मा से 17 बार फोन पर बातचीत की.

सीबीआई की चल रही जांच में यह बात भी सामने आई है कि कई मौकों पर बृजेश ठाकुर और चंद्रशेखर वर्मा एक साथ पटना से दिल्ली जाया करते थे और कई दिनों तक साथ में दिल्ली में रहते थे. गौरतलब है कि बालिका गृह की 34 लड़कियों के साथ बलात्कार की पुष्टि हुई है. जिसके बाद ये मामला देशभर में चर्चा का विषय बना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें