scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: बीजेपी नेताओं ने भारत को बताया 100 करोड़ वैक्सीन लगाने वाला पहला देश, गलत है ये दावा

भारत ने 21 अक्टूबर 2021 को 100 करोड़ वैक्सीन का आंकड़ा पार कर लिया. इस मौके पर देश भर में जश्न का माहौल रहा. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इसे ‘आत्मनिर्भर भारत की दिवाली’ बताया.

X
सोशल मीडिया में वायरल पोस्ट की क्या है सच्चाई सोशल मीडिया में वायरल पोस्ट की क्या है सच्चाई

भारत ने 21 अक्टूबर 2021 को 100 करोड़ वैक्सीन का आंकड़ा पार कर लिया. इस मौके पर देश भर में जश्न का माहौल रहा. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने इसे ‘आत्मनिर्भर भारत की दिवाली’ बताया.

लेकिन इस ऐतिहासिक उपलब्धि के बीच कई वेबसाइट्स और सोशल मीडिया यूजर दावा करने लगे कि भारत 100 करोड़ वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का पहला देश बन गया है.

बीजेपी हरियाणा ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, “100 करोड़ वैक्सीन लगाने वाला पहला देश भारत.” बीजेपी हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ और राजस्थान के पूर्व मंत्री व बीजेपी नेता राजेंद्र गहलोत ने भी ये दावा किया है.

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि भारत 100 करोड़ वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का पहला नहीं, बल्कि दूसरा देश है. पहले नंबर पर चीन है जिसने जून में ही सौ करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया था. 20 अक्टूबर 2021 तक चीन लगभग 224 करोड़ वैक्सीन लगा चुका है जो भारत का दोगुने से ज्यादा है.

इससे पहले 19 अक्टूबर 2021 को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी बस्ती जिले में आयोजित संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रम में कहा था कि भारत सौ करोड़ वैक्सीन लगाने वाला पहला देश है. उत्तर प्रदेश सरकार के आधिकारिक यूट्यूब पेज से योगी के भाषण की लाइव स्ट्रीमिंग की गई थी. भाषण के वीडियो में 44वें मिनट पर वे कहते हैं, “...भाइयों बहनों, कल तक पूरे देश के अंदर भारत के द्वारा विकसित की गई वो वैक्सीन 100 करोड़ लोगों को उसकी डोज कल तक दी जा चुकी होगी. 100 करोड़ लोगों को. याद करना, सौ करोड़ लोगों को ये डोज देने वाला भारत दुनिया का पहला देश है.”

सीएम के इस बयान को कई मीडिया वेबसाइट्स ने भी छापा. वहीं ‘टाइम्स नाउ नवभारत’ और ‘न्यूज नेशन’ जैसी कुछ वेबसाइट्स ने खुद ही ये दावा कर दिया कि भारत 100 करोड़ वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का पहला देश है.

हमारी पड़ताल

हमने पाया कि ‘नेशनल हेल्थ कमिशन ऑफ द पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना’ के मुताबिक, 19 अक्टूबर, 2021 तक चीन 223.4 करोड़ वैक्सीन लगा चुका था.

वैश्विक स्तर पर कोविड का लाइव डेटा देने वाली वेबसाइट ‘अवर वर्ल्ड इन डेटा’ के मुताबिक, चीन 20 अक्टूबर 2021 तक लगभग 224 करोड़ वैक्सीन लगा चुका था.

एक और डेटा वेबसाइट ‘स्टैटिस्टा’ भी इस आंकड़े की पुष्टि करती है कि चीन 17 अक्टूबर 2021 तक लगभग 223 करोड़ वैक्सीन लगा चुका था.

चीन ने जून के महीने में ही यानी भारत से करीब चार महीने पहले ही 100 करोड़ वैक्सीन का आंकड़ा छू लिया था. इस बारे में मीडिया में कई खबरें भी प्रकाशित हुई थीं.

इसमें कोई शक नहीं है कि 100 करोड़ वैक्सीन का लक्ष्य पार करना भारत के लिए एक बड़ी उपलब्धि है. पिछले पांच महीनों में टीकाकरण अभियान ने काफी बेहतर प्रदर्शन किया है. सितंबर सबसे अच्छा महीना रहा, जिसमें लगभग 80 लाख डोज हर दिन लगाई गई. अब तक भारत ने वैक्सीनेशन के योग्य आबादी के 75 प्रतिशत को कम से कम एक डोज टीका लगा लिया है. गोवा और हिमाचल प्रदेश उन राज्यों में शामिल हैं, जहां पूरी योग्य आबादी को वैक्सीन की पहली डोज दी जा चुकी है. अक्टूबर में कुछ धीमी रफ्तार के बावजूद, पिछली 50 करोड़ डोज रिकॉर्ड 76 दिनों में लगाई गईं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के महानिदेशक टेड्रोस ए गेब्रेयेसस ने भी भारत की उपलब्धि के लिए पीएम नरेंद्र मोदी को बधाई दी है. लेकिन भारत ये उपलब्धि हासिल करने वाला दुनिया का दूसरा देश है.
 

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

भारत सौ करोड़ वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का पहला देश है.

निष्कर्ष

भारत सौ करोड़ वैक्सीन लगाने वाला दुनिया का दूसरा देश है. पहले नंबर पर चीन है जो 21 अक्टूबर 2021 तक 200 करोड़ से भी अधिक वैक्सीन लगा चुका है.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें