scorecardresearch
 

फैक्ट चेक: शिवराज पर चप्पल फेंकने का पुराना वीडियो उपचुनाव के पहले फिर हुआ वायरल

वायरल वीडियो में न तो कोई मास्क पहने नजर आ रहा है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग जैसा कुछ दिख रहा है. साथ ही, इस वीडियो के नीचे कमेंट करने वाले कई लोगों ने भी लिखा है कि यह पुराना हो सकता है. इन दोनों ही बातों से ऐसा लगता है कि वीडियो पुराना हो सकता है.

वायरल वीडियो का चित्र वायरल वीडियो का चित्र

मध्य प्रदेश की 27 विधानसभा सीटों पर जल्द ही उपचुनाव होने हैं. इनमें से ज्यादातर सीटें कांग्रेस के विधायकों द्वारा इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल होने के बाद खाली हुई थी. इन उपचुनावों को लेकर मध्य प्रदेश की राजनीति में हलचल शुरू हो गई है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो उमा भारती मध्य प्रदेश की राजनीति में वापसी की तैयारी में हैं. यही वजह है कि वह हाल ही में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के साथ मंच साझा करती दिखीं.

इस चुनावी सरगर्मी के बीच सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसके जरिये यह दिखाने की कोशिश की जा रही है कि शिवराज सिंह चौहान के प्रति लोगों के मन में बहुत गुस्सा है. वीडियो में दिख रहा है कि एक सभा में भाषण देते हुए शिवराज सिंह चौहान पर अचानक कोई चप्पल फेंक देता है. तुरंत ही मुख्यमंत्री के पास खड़े सुरक्षाकर्मी सक्रिय होते हैं और उनके आसपास एक घेरा बना लेते हैं. दावा यह किया जा रहा है कि यह वीडियो अभी हाल का ही है.  

इंडिया टुडे के एंटी फेक न्यूज वॉर रूम (AFWA) ने पाया कि शिवराज सिंह चौहान पर चप्पल फेंकने का यह वीडियो साल 2018 का है जिसको चुनावी माहौल देखकर नए सिरे से शेयर किया जा रहा है.

एक फेसबुक यूजर ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा, 'चप्पल-जूते से स्वागत होना शुरू हो गया है, मामाजी को अब समझ जाना चाहिए…' शिवराज सिंह चौहान मध्य प्रदेश में ‘मामाजी’ के नाम से लोकप्रिय हैं. इस पोस्ट का आर्काइव्ड वर्जन यहां देखा जा सकता है. ट्विटर पर भी यह दावा काफी वायरल है.

ऐसे ही एक और सोशल मीडिया यूजर ने कमेंट किया, “चोरी से सरकार बनेगी तो यही होगा”. एक अन्य यूजर ने लिखा, 'अभी तो यह शुरुआत है. जो मजदूर लॉकडाउन में मीलों पैदल चले थे, मैं उन सभी से कहता हूं कि अपने घिसे-फटे जूते तैयार रखें. चुनाव भी होगा और ये लोग वोट लेने भी आएंगे.' खबर लिखे जाने तक यह दावा करने वाले एक फेसबुक पोस्ट पर तकरीबन 4000 लोग रिएक्शन दे चुके थे.
 
दावे की पड़ताल

वायरल वीडियो में न तो कोई मास्क पहने नजर आ रहा है और न ही सोशल डिस्टेंसिंग जैसा कुछ दिख रहा है. साथ ही, इस वीडियो के नीचे कमेंट करने वाले कई लोगों ने भी लिखा है कि यह पुराना हो सकता है. इन दोनों ही बातों से ऐसा लगता है कि वीडियो पुराना हो सकता है.

इसी आधार पर इंटरनेट पर यह वीडियो खोजने से इसकी असलियत सामने आ गई. हमें पता चला कि यह वीडियो साल 2018 में मध्य प्रदेश के सीधी जिले में आयोजित जन आशीर्वाद यात्रा का है. इस यात्रा की एक सभा के दौरान शिवराज सिंह चौहान पर चप्पल फेंकी गई थी. शिवराज सिंह चौहान उस समय भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री थे.

इनविड टूल की मदद से जब हमने इस वीडियो को खोजा तो हमें इससे संबंधित कुछ न्यूज रिपोर्ट्स मिलीं जिनसे पता चला कि यह घटना 3 सितंबर 2018 की है. जब यह घटना हुई थी, तो हिन्दुस्तान टाइम्स और राजस्थान पत्रिका आदि न्यूज वेबसाइट्स में भी इस पर रिपोर्ट आई थी.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस पूरी घटना को अपनी हत्या की साजिश करार दिया था क्योंकि उससे एक दिन पहले उनके काफिले पर पत्थरबाजी भी हुई थी.  माई नेशन वेबसाइट के मुताबिक इस मामले में कुछ लोग गिरफ्तार भी हुए थे.  

फैक्ट चेक

सोशल मीडिया यूजर्स

दावा

हाल ही में हुई एक सभा में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पर चप्पल फेंकी गई.

निष्कर्ष

मुख्यमंत्री शिवराज पर चप्पल फेंकने का वाकया साल 2018 में हुआ था.

झूठ बोले कौआ काटे

जितने कौवे उतनी बड़ी झूठ

  • कौआ: आधा सच
  • कौवे: ज्यादातर झूठ
  • कौवे: पूरी तरह गलत
सोशल मीडिया यूजर्स
क्या आपको लगता है कोई मैसैज झूठा ?
सच जानने के लिए उसे हमारे नंबर 73 7000 7000 पर भेजें.
आप हमें factcheck@intoday.com पर ईमेल भी कर सकते हैं
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें