scorecardresearch
 

रेल किराये में वृद्धि से भड़की तृणमूल कांग्रेस

सरकार में शामिल तृणमूल कांग्रेस ने संसद में रेल बजट पेश किये जाने के कुछ ही मिनट बाद यात्री किराये में वृद्धि से असंतोष जताते हुए अपनी ही पार्टी के रेल मंत्री से बढ़ा किराया तत्काल वापस लेने की मांग की और कहा कि यह पार्टी के सिद्धांतों के खिलाफ है.

संदीप बंदोपाध्‍याय संदीप बंदोपाध्‍याय

सरकार में शामिल तृणमूल कांग्रेस ने संसद में रेल बजट पेश किये जाने के कुछ ही मिनट बाद यात्री किराये में वृद्धि से असंतोष जताते हुए अपनी ही पार्टी के रेल मंत्री से बढ़ा किराया तत्काल वापस लेने की मांग की और कहा कि यह पार्टी के सिद्धांतों के खिलाफ है.

संसद भवन परिसर में रेल बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए तृणमूल कांग्रेस संसदीय पार्टी के नेता सुदीप बंदोपाध्याय ने संवाददाताओं से कहा, ‘ममता बनर्जी और तृणमूल कांग्रेस की यह नीति रही है कि आम आदमी के हितों को संरक्षण प्रदान किया जाए. रेल बजट में रेल किराये में वृद्धि की गई है. तृणमूल कांग्रेस इसका समर्थन नहीं करती है.’

उन्होंने कहा, ‘इस संबंध में पार्टी का अंदरूनी संदेश रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी के पास पहुंचा दिया गया है. संसद में हम इसका (रेल किराये में वृद्धि) समर्थन नहीं करेंगे.’ उन्होंने कहा कि रेल किराये में वृद्धि को वापस लिया जाना चाहिए. उधर रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने कहा कि उन्होंने जो कुछ भी किया, वह रेलवे के हितों को ध्यान में रखते हुए किया. हालांकि उन्होंने यह भी स्वीकार किया कि ममता को इसकी जानकारी नहीं थी. उन्होंने कहा, ‘वह हमारी सर्वोच्च नेता हैं.’

यह पूछे जाने पर कि क्या रेल बजट के बारे में पार्टी से विचार विमर्श नहीं किया गया था, बंदोपाध्याय ने कहा कि रेल बजट एक गोपनीय दस्तावेज होता है और पार्टी ऐसे मामलों में हस्तक्षेप नहीं करती है. ‘हमने इस विषय पर निर्णय करने का दायित्व रेल मंत्री पर छोड़ दिया था.’ उन्होंने स्वीकार किया कि रेल मंत्री ने इस विषय पर ममता बनर्जी और पार्टी से कोई सम्पर्क नहीं किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें