scorecardresearch
 

जानें बढ़े किराए का कितना होगा असर

जैसा कि उम्‍मीद की जा रही थी, रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने साल 2012-13 के रेल बजट में यात्री किराया बढ़ाने की घोषणा कर ही दी. मंत्रीजी ने भारतीय रेल की बिगड़ती आर्थिक हालत का हवाला देते हुए सभी श्रेणियों के यात्री किराए में बढ़ोतरी की है.

जैसा कि उम्‍मीद की जा रही थी, रेल मंत्री दिनेश त्रिवेदी ने साल 2012-13 के रेल बजट में यात्री किराया बढ़ाने की घोषणा कर ही दी. मंत्रीजी ने भारतीय रेल की बिगड़ती आर्थिक हालत का हवाला देते हुए सभी श्रेणियों के यात्री किराए में बढ़ोतरी की है. इस साल के बजट में रेल मंत्री ने यात्री किरयों में 2 पैसा से 30 पैसा प्रति किलोमीटर की बढ़ोतरी का प्रस्ताव रखा है.

श्रेणी के आधार पर की गई बढ़ोतरी
1. एक्सप्रेस ट्रेन (जनरल)- 3 पैसा प्रति किमी
2. स्लीपर- 5 पैसा प्रति किमी
3. एसी:3- 10 पैसा प्रति किमी
4. एसी:2- 15 पैसा प्रति किमी
5. एसी:1-30 पैसा प्रति किमी
6. प्लेटफॉर्म टिकट- 5 रुपये

कितना ज्यादा किराया देना होगा-

अगर आप भारतीय रेल से देश के किसी भी कोने में 1000 किलोमीटर का सफर करते हैं. तो हर बढ़ती श्रेणी के साथ ज्यादा किराया देने पड़ेंगे. यानी अगर आपने स्लीपर का टिकट लिया है तो बजट लागू होने के बाद आपको 50 रुपये ज्यादा किराया देना पड़ेगा. वहीं यह किराया थर्ड एसी श्रेणी में 100 रुपए बढ़ जाएगा. सकेंड एसी श्रेणी में सफर करने वाले यात्री को इतनी ही दूरी के लिए 150 रुपए ज्यादा किराया देना पड़ेगा. वहीं फर्स्ट एसी में सफर करने वाले यात्रियों की जेब पर 300 रुपये का असर डालेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें