scorecardresearch
 

Mind Rocks18: बड़ा बैनर बड़ी फिल्में नहीं, राधिका को चाहिए दमदार रोल

एक्ट्रेस राधिका आप्टे ने शनिवार को इंडिया टुडे के माइंड रॉक्स इवेंट में शिरकत की. राधिका ने यहां अपनी निजी जिदंगी से लेकर फिल्मों के चुनाव तक कई अहम मुद्दों पर बात की.

X
राधिका आप्टे राधिका आप्टे

इंडिया टुडे 'माइंड रॉक्स' में पहुंची राधिका आप्टे ने वेब सीरीज की जमकर तारीफ़ की. उन्होंने कहा, "नेट फ्लिक्स बहुत बढ़िया काम कर रही है. उन्होंने इसे बहुत बड़ा प्लेटफॉर्म करार दिया." सोशल मीडिया और ट्रोल्स को लेकर उन्होंने कहा, यदि आप मीम्स का हिस्सा हैं तो आप शानदार काम कर रहे हैं."

बड़ा बैनर नहीं बड़ी फिल्में

बड़े बैनर की फिल्मों में काम करने को लेकर हुए सवाल पर राधिका ने कहा, "मैंने 6-7 भाषाओं में काम किया. डिजिटल, टीवी या फिल्में इससे मुझे फर्क नहीं पड़ता है." उन्होंने कहा, "मैं फिल्मों के छोटे और बड़े बजट में भरोसा नहीं करती. मैं अच्छा काम करना चाहती हूं. जो चुनौतीपूर्ण हो और मुझे संतुष्टि दे." बातचीत के दौरान राधिका ने करण जौहर को शानदार शख्स बताया.

फैमिली में हर कोई रहता है दूर

राधिका ने बताया कि उनका पति के साथ लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप है. उन्होंने इसे मुश्किल बताया पर यह भी जोड़ा कि यह इस वक्त का बड़ा चैलेन्ज है जिसे स्वीकारना होगा. उन्होंने कहा, "हमारे परिवार में हर कोई अलग-अलग जगहों पर रहता है. ये आज की सच्चाई है."

मीटू कैम्पेन पर क्या कहा

राधिका ने कहा, "ये बहुत बड़ा सवाल है. बेसिकली ये पावर गेम है. ये सब जगह है. कहीं जेंडर पावर गेम है. कहीं कुछ और. अगर आप फिल्म इंडस्ट्री की बात करें तो महिलाएं शोषण का शिकार होती हैं. लेकिन सिर्फ बॉलीवुड के परिप्रेक्ष्य में बात करना इसे सीमित कर देना है. यहां तक कि लोग पत्नियों को अपने घरों में एब्यूज करते हैं." राधिका ने कहा, "हमें पारदर्शिता, सिस्टम और ऐसे प्लेस की जरूरत है. जहां सिस्टम की बात की जा सके." मीटू पर बात करते हुए राधिका ने अपनी एक फिल्म का अनुभव भी साझा किया.

मराठी माध्यम में हुई है पढ़ाई

राधिका ने क्योश्चन-आंसर सेशन में ऑडियंस के एक सवाल पर कहा- "मेरी पूरी पढ़ाई लिखाई मराठी में हुई है. सेमी मराठी नहीं. मुझे मराठी होने का गर्व है." लेकिन उन्होंने जोड़ा, "मैं वर्ल्ड सिटिजन होना पसंद करूंगी."

राजनीति पसंद लेकिन...

राधिका ने बताया कि उन्हें राजनीति पसंद है. उन्होंने कहा, "राजनीति फॉलो करती हूं. लेकिन यह बहुत डिप्रेसिंग है." उन्होंने सोशल मीडिया को एक बबल करार दिया और यह भी कहा कि सेल्फी कल्चर बहुत "डरावना" है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें