scorecardresearch
 

भारत के लिए चीन और पाकिस्तान से दो मोर्चों पर चुनौती, रखें तैयारीः डीएस हुड्डा

लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) राकेश शर्मा ने भी चीन और पाकिस्तान के मोर्चे पर चौकस रहने की बात कही. उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में चीन पाकिस्तान की मदद कर रहा है.

पाकिस्तान और चीन की सीमा पर रखनी होगी पैनी नजर (फाइल फोटो-AP) पाकिस्तान और चीन की सीमा पर रखनी होगी पैनी नजर (फाइल फोटो-AP)

  • एलएसी पर भारत को पेट्रोलिंग मजबूत करनी होगी
  • पेट्रोलिंग प्वाइंट पर नजर रखनी होगी- राकेश शर्मा

देश के सबसे बड़े यूथ समिट Mindrocks के मंच पर पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक करने वाले रिटायर्ड लेफ्टिनेंट जनरल डी.एस. हुड्डा ने बताया कि भारत को कई मोर्चों पर लड़ना है. उसके इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहिए.

नॉर्दन कमांड की जिम्मेदारी संभाल चुके लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) डीएस हुड्डा ने कहा कि यह सभी जानते हैं कि चीन ने पाकिस्तान की मिलिट्री को मॉर्डन बनाने में किस तरह से मदद की है. हमें दो मोर्चों पर खतरा है. हमें इसके लिए तैयार रखना होगा. पूर्वी लद्दाख में चीन तो दूसरी ओर पाकिस्तानी घुसपैठियों से भारत को निपटना है. चाहे वो नियंत्रण रेखा हो चाहे वो सियाचीन, हमें तैयार रहना है.

E-Mindrocks 2020 Live: हर अपडेट यहां पढ़ें...

लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) राकेश शर्मा ने भी चीन और पाकिस्तान के मोर्चे पर चौकस रहने की बात कही. उन्होंने कहा कि कई क्षेत्रों में चीन पाकिस्तान की मदद कर रहा है. गिलगित और बाल्टिस्तान इलाके में चीन पाकिस्तान को मदद कर रहा है.

वहीं डीएस हुड्डा ने कहा कि हमें बॉर्डर पर ढांचे को मजबूत करना होगा. एलएसी पर चीन की आक्रमकता दिख रही है. सेना की तैनाती और बुनियादी ढांचे को और मजबूत करना होगा. राकेश शर्मा ने भी कहा कि एलएसी पर पेट्रोलिंग को मजबूत करना होगा. पेट्रोलिंग प्वाइंट पर नजर रखनी होगी. क्योंकि एलएसी में स्थिति अब बदल चुकी है.

भारत के समीप आ रहे देश

दक्षिणी चीन सागर के मुद्दे पर डीएस हुड्डा ने कहा कि भौगोलिक और राजनीतिक संकट चीन के लिए बढ़ रहा है. वह अपने पड़ोसी देशों के चुनौती पेश कर रहा है. उन्होंने कहा कि जापान, कोरिया, इंडोनेशिया को लगता है कि चीन इस इलाके में प्रभुत्व जता रहा है, इससे इन देशों के लिए थोड़ा संकट बढ़ेगा. इसका नतीजा ये हो रहा है कि कई देश एक साथ आ रहे हैं. कई देश भारत के समीप भी आ रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें