scorecardresearch
 

e-एजेंडा: राजनाथ बोले- कोरोना संकट सरकार के लिए पिछले छह साल की सबसे बड़ी चुनौती

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को e-एजेंडा आजतक कार्यक्रम में शिरकत की. इस दौरान उन्होंने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरे होने पर उपलब्धियां गिनाईं.

केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (PTI) केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (PTI)

  • मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा
  • राजनाथ सिंह ने एजेंडा आजतक में की शिरकत

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का आज एक साल पूरा हो गया है. इस मौके पर आजतक के खास कार्यक्रम e-एजेंडा आजतक में देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शिरकत की. कोरोना संकट पर बात करते हुए इस दौरान राजनाथ सिंह ने कहा कि ये साल मोदी सरकार के लिए सबसे चुनौती वाला साल है.

रक्षा मंत्री ने कहा कि पिछले 6 साल जो गुजरे हैं, इसमें सबसे अधिक चुनौती इस साल में आई है, जिसका हमें सामना करना है. इस वक्त भारत का नेतृत्व पीएम मोदी के हाथ में है, उनमें हर चुनौती पर विजय प्राप्त करने की क्षमता है.

राजनाथ ने कहा कि कोरोना के मामले में भी पीएम मोदी ने सूझबूझ के साथ फैसले लिए, आज आप अमेरिका की हालत देखिए.. पीएम के फैसले के कारण ही आज भारत की स्थिति बेहतर है.

e-एजेंडा: राजनाथ बोले- चीन से डिप्लोमैटिक और मिलिट्री लेवल पर बातचीत जारी है

चिंता कम, सावधानी अधिक की जरूरत

कोरोना संकट के मसले पर रक्षा मंत्री ने कहा कि अब लोगों को चिंता कम करने की जरूरत है, लेकिन सावधानी बरतनी होगी. ये एक चुनौती है जिसे हमारे प्रधानमंत्री और देश ने स्वीकार किया है. अगर लॉकडाउन समय पर ना लागू होता तो भारत की स्थिति काफी बदतर होती.

राजनाथ बोले कि आज दुनिया के कई विकसित देशों की हालत काफी बुरी है, भारत में आज कोरोना से मौत का रेट काफी कम है. देश में अगर कोई कोरोना की चपेट में आ रहा है, तो ठीक होने वालों की संख्या भी काफी ज्यादा है.

राज्यों के कोरोना से निपटने को लेकर राजनाथ सिंह ने कहा कि आज की परिस्थिति में किसी राज्य पर आरोप लगाना ठीक नहीं है, अगर कहीं पर भी संकट बढ़ा है तो हर किसी को एक साथ आकर मदद करनी चाहिए. केंद्र सरकार ने सभी राज्यों के साथ मिलकर काम किया है, साइक्लोन आया तो पीएम मोदी तुरंत बंगाल और ओडिशा गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें