scorecardresearch
 

सत्‍याग्रह 2014- नेता खुद के लिए जीते-मरते हैं: कैसर जानी

सत्‍याग्रह 2014- नेता खुद के लिए जीते-मरते हैं: कैसर जानी

महात्मा गांधी की मौत को 66 साल हो गए हैं. लेकिन आज भी तमाम राजनीतिक बहसों में यह सवाल अकसर उछलकर सामने आ जाता है कि अभी बापू होते तो क्या सोचते. इसलिए एजेंडा आज तक में एक सेशन बापू के नाम भी रखा गया. 'सत्याग्रह 2014' सेशन में महात्मा गांधी के रूप में आए एक्टर कैसर जानी. गांधी बनकर ही उन्होंने मौजूदा राजनीतिक और सामाजिक परिदृश्य पर अपनी राय रखी. उन्होंने दिए कुछ सवालों के जवाब.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें