scorecardresearch
 

एजेंडा आजतक: जनरल रावत ने बताया किन 5 शब्दों को ध्यान में रखते हैं फौजी

एजेंडा आजतक: जनरल रावत ने बताया किन 5 शब्दों को ध्यान में रखते हैं फौजी

एजेंडा आजतक के वंदे मातरम सेशन में चीफ ऑफ आर्मी स्टाफ जनरल बिपिन रावत ने कहा कि पारंपरिक युद्ध का तरीका बदल गया है. अब 3-4 दिन तक के लिए युद्ध नहीं चलता. युद्ध जीतने के लिए आपके पास समय कम होता है. क्योंकि इसके बाद संयुक्त राष्ट्र का दबाव होता है. दुश्मन देशों की एटॉमिक हमले की धमकी आने लगती है. इसलिए हमें कम समय में विजय हासिल करनी होती है. जनरल रावत ने बताया हमारे जवान ये पांच शब्द हमेशा ध्यान में रखते हैं. नाम, नमक, निशान, वफादारी और इज्जत.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें