scorecardresearch
 

कुलदीप सेंगर, चिन्मयानंद पर अनदेखी क्यों करती आ रही भाजपा, अमित शाह ने दिया जवाब

गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कोई भी मामला जब मीडिया में आता है, तो उसकी सच्चाई को जानें बिना एकदम कोई एक्शन लेना उचित नहीं है. उन्हें तत्काल सस्पेंड कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि बर्खास्तगी का निर्णय भी कुछ समय के बाद किया गया.

एजेंडा आजतक में गृह मंत्री अमित शाह एजेंडा आजतक में गृह मंत्री अमित शाह

  • एजेंडा आजतक 2019 में गृह मंत्री ने दिए सवालों के जवाब
  • साध्वी प्रज्ञा से जताई असहमति, कहा- की है कड़ी कार्रवाई

उन्नाव के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को रेप के मामले में दोषी करार दे दिया गया है. पूर्व गृह राज्यमंत्री चिन्मयानंद भी रेप के आरोप में मुकदमे का सामना कर रहे हैं और जेल में है. भारतीय जनता पार्टी पर दोनों ही नेताओं के खिलाफ सख्त नहीं रहने के आरोप लगते रहे हैं. मंगलवार को एजेंडा आजतक 2019 के मंच से इनसे जुड़े सवालों के भी जवाब दिए.

गृह मंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि कोई भी मामला जब मीडिया में आता है, तो उसकी सच्चाई को जानें बिना एकदम कोई एक्शन लेना उचित नहीं है. उन्हें तत्काल सस्पेंड कर दिया गया था. उन्होंने कहा कि बर्खास्तगी का निर्णय भी कुछ समय के बाद किया गया. यह निर्णय एकदम अल्टीमेट होता है. इसलिए उससे पहले जिले के नेताओं से, प्रदेश के नेताओं से जानकारी ली जाती है.

भाजपा सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर को लेकर पूछे गए सवाल पर गृह मंत्री शाह ने कहा कि पार्टी ने उनके खिलाफ कोई एक्शन नहीं लिया, ऐसा नहीं है. उन्हें हमने संसद की समिति से हटाया, पार्टी की मीटिंग से बेदखल किया. उनसे कहा गया कि लोकसभा के अंदर अध्यक्षजी के सामने सार्वजनिक रूप से माफी मांगें, माफी मांगी भी. उन्होंने कहा कि पार्टी की अनुशासन समिति ने भी उन्हें काफी कुछ कहा है, जिन्हें सार्वजनिक रूप से नहीं कह सकता.

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि इसे हमने गंभीरता से लिया है. हम कत्तई इस प्रकार के बयानों या भावनाओं के साथ नहीं है. उन्होंने कहा कि हमने तुरंत ही स्टेटमेंट दिया था कि हम इसकी घोर निंदा करते हैं. भाजपा इससे कोई इत्तेफाक नहीं रखती. साध्वी प्रज्ञा को टिकट देना गलत था, इस सवाल पर भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मानता हूं कि कई बार फैसले एक अनुमान के आधार पर लेते हैं. हमने उन्हें कठोरता से संदेश देने की कोशिश की है और मैं समझता हूं कि यह कन्वे भी हुआ है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें