scorecardresearch
 

5 राज्यों में भी BJP के कुल 200 विधायक नहीं जीत पाए, ये जनादेश है: सिंधिया

ज्योतिरादित्य  सिंधिया ने बीजेपी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. एमपी चुनाव के दौरान बीजेपी के अबकी बार 200 पार के नारे पर हमला बोलते हुए सिंधिया ने कहा बीजेपी के पांच राज्यों में कुल 200 विधायक नहीं जीत पाए. यह जनादेश है.

ज्योतिरादित्य सिंधिया ज्योतिरादित्य सिंधिया

आजतक के महामंच 'एजेंडा आजतक' में कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश में पार्टी की जीत में अहम भूमिका निभाने वाले ज्योतिरादित्य सिंधिया ने शिरकत की. सिंधिया ने इस दौरान बीजेपी और केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. मध्य प्रदेश चुनाव के दौरान बीजेपी के अबकी बार 200 पार के नारे पर हमला बोलते हुए सिंधिया ने कहा बीजेपी के पांच राज्यों में कुल 200 विधायक नहीं जीत पाए. यह जनादेश है.

तीन राज्यों में मिली जीत पर बोलते हुए सिंधिया ने कहा कि यह हम लोगों का संयुक्त प्रयास था. यह चुनाव कांग्रेस और बीजेपी के बीच नहीं था. यह चुनाव लोगों और बीजेपी के बीच था. वहीं सीएम नहीं बनने पर उन्होंने कहा कि पार्टी का फैसला सबसे ऊपर होता है. जो कार्यकर्ता की जिम्मेदारी होती है वो हमने किया. मेरे मन में खुशी है हमारी सरकार आई है. हमने 6 घंटे के अंदर किसानों का कर्ज माफ किया. हम जो वादा करते हैं उसको करके दिखाते हैं.  

सीएम बनने की महत्वाकांक्षा पर उन्होंने कहा कि हर इंसान की इच्छा होती है. मुझे पद से कोई मोह नहीं है. जनता की सेवा करना मेरी इच्छा है. वो आप किसी भी रूप में कर सकते हैं. युवा खासतौर से सिंधिया को एमपी का सीएम नहीं बनाने पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मुझे कई जिम्मेदारियां दी. जब केंद्र में हमारी सरकार थी तो मुझे मंत्रालय मिला था. पार्टी ने हमें मौका दिया. पार्टी जो फैसला ली है हम उससे खुश हैं.

सिंधिया ने कहा कि संकल्प, संघर्ष क्या आपको केवल पद से मिल सकता है. यह आपके दिमाग नहीं दिल में होना चाहिए. यह कुर्सी से जुड़ी नहीं होनी चाहिए. सड़क पकड़कर आप सत्य की लड़ाई लड़ सकते हैं. मेरे पिताजी कहते थे कि कोशिश हो कि राजनीति आपको नहीं बदल पाए, बल्कि आप राजनीति को बदलें. यही कोशिश मैंने की है.

एमपी में मिली जीत पर बोलते हुए कांग्रेस के इस य़ुवा नेता ने कहा कि हम किसी को खत्म करना नहीं चाहते. भारत में लोकतंत्र को रखना है. मेरी विचारधारा है कि एक मजबूत विपक्ष होना चाहिए.

उन्होंने कहा कि इस चुनाव में जो भी विधायक जीते हैं उनको मैं बधाई देता हूं. मैं बीजेपी के विधायकों को भी बधाई देता हूं. एमपी में बीजेपी का नारा था, अबकी बार 200 पार. पांच राज्यों के नतीजे को देखें तो इन राज्यों में बीजेपी के कुल 200 विधायक भी नहीं जीत पाए. जनादेश साफ है. एमपी में हम काफी करीब अंतर से जीते हैं. इसमें कोई 2 राय नहीं है. सबको साथ मिलकर जनता की सेवा करना चाहिए.

सिंधिया ने कहा कि लोकतंत्र में मतभेद होना चाहिए,क्योंकि मतभेद से ही समाधान होता है. मनभेद नहीं होना ताहिए. कांग्रेस और बीजेपी में अंतर है. हम विरोधी हैं लेकिन दुश्मन नहीं हैं. राहुल गांधी पीएम मोदी के समक्ष जाकर उनका हाथ पकड़ते हैं. बीजेपी ऐसा नहीं करती. अटल बिहारी वाजपेयी और नरेंद्र मोदी की बीजेपी में जमीन आसमान का अंतर है. मैं वाजपेयी जी का सम्मान करता हूं. क्योंकि वे एक अच्छे इंसान थे. इस देश को एक अच्छे इंसान की जरूरत है.

सिंधिया ने कहा कि सरकार की कमजोरियों को सामने लाना विपक्ष की जिम्मेदारी होती है. इसके अलावा समाधान देना भी विपक्ष की जिम्मेदारी होती है. बीजेपी में कोई सुनने को तैयार नहीं होता है.

राफेल को लेकर भी बीजेपी पर बोला हमला

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राफेल को लेकर बीजेपी पर हमला बोला. उन्होंने कहा कि हम राफेल पर बहस को तैयार हैं. बीजेपी जेपीसी बनाने से क्यों भाग रही है.  अगर उनका मन साफ है, दिल साफ है, तो जेपीसी बनाइए सब साफ हो जाएगा. हमारा आरोप है कि दाल में कुछ काला है.

कर्ज माफी के पैसे कहां से आएंगे

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकारें ने किसानों का कर्ज माफ कर दिया है. इसके पैसे कहां से आएंगे इसपर बोलते हुए सिंधिया ने कहा कि बीजेपी केवल वादा करती है. हम करके दिखाते हैं. हम कहते हैं जान जाए वचन ना जाए. बीजेपी कहती है कि वचन जाए पर जान न जाए. हमने कहा था कि हर किसान का कर्ज 2 लाख तक 10 दिन में माफ करेंगे. हमने छत्तीसगढ़ में किया. जब आत्मविश्वास हो तो असंभव काम भी हो जाता है. देश का किसान जो इस देश का 60 फीसदी है. कई राज्यों के किसान दिल्ली में आए प्रदर्शन करने. सरकार का कोई मंत्री उनका आंसू नहीं पोछा. क्या हमारा हक सरकार के खजाने पर नहीं हो सकता.

2019 में आपका नेता कौन होगा इसपर जवाव देते हुए उन्होंने कहा कि यूपीए का नेता यूपीए की पार्टियां चुनेगी. इसकी अध्यक्ष सोनिया गांधी हैं. हम एक नेता पर सब कुछ नहीं छोड़ते. हम मिलकर इस पर फैसला करेंगे.

सिंधिया ने कहा एमपी, राजस्थान, छत्तीसगढ़ में हुआ चुनाव बीजेपी बनाम लोग था. 2019 का चुनाव भी बीजेपी बनाम लोग होगा. राहुल गांधी में देश को आगे ले जाने की क्षमता है. मेरा मानना है कि उनको आगे करके हमें लड़ना चाहिए, लेकिन आखिरी फैसला यूपीए लेगी.

गांधी परिवार के अलावा कांग्रेस का अध्यक्ष क्यों नहीं बन सकता, इस सवाल का जवाब देते हुए सिंधिया ने कहा कि कांग्रेस वो पार्टी है जहां पंचायत से राज्य और राष्ट्र स्तर तक चुनाव होता. यहां किसी को अध्यक्ष का चुनाव लड़ने से नहीं रोका जाता. मेरा विश्वास था कि राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष बनें. उनमें वो क्षमता है. मेरा वोट उनके साथ था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें