scorecardresearch
 

'पटाखा' पर बोले सुनील ग्रोवर, बहुत कुछ भूलकर शुरू किया नया काम

टीवी के लोकप्रिय चेहरे सुनील ग्रोवर का कहना है कि राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज के साथ "पटाखा" में काम करने से उन्हें नई चीजें सीखी तो कई चीजें भूलनी भी पड़ीं.

सुनील ग्रोवर सुनील ग्रोवर

टेलीविजन के लोकप्रिय चेहरे सुनील ग्रोवर का कहना है कि राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता फिल्म निर्माता विशाल भारद्वाज के साथ 'पटाखा' में काम करने से उन्हें काफी नई चीजें सीखी तो कई चीजें भूलनी भी पड़ी.

भारद्वाज के साथ काम करने के अपने अनुभव पर सुनील ने बताया, "एक व्यक्ति होने के नाते किरदार को लेकर मेरा अपना दृष्टिकोण था. इसलिए शुरुआत में मैं वैसा करने की कोशिश कर रहा था, लेकिन जब मैंने विशाल सर के साथ चीजों पर चर्चा करनी शुरू की, तो मेरा दृष्टिकोण बदला."

सुनील के मुताबिक, "विशाल सर व्यापक तरीके से सोचते हैं लेकिन मैं सिर्फ अपने किरदार के बारे में सोच रहा था."

उन्होंने कहा, "इसलिए विशाल सर के साथ करने से मैं भी अलग तरीके से सोचने लगा. मैं सर से नई चीजें सीखने के लिए कई चीजें भूली भी." इस फिल्म में सुनील राजस्थानी किरदार निभा रहे हैं. इस किरदार के लिए सुनील को राजस्थानी लहजा सीखना पड़ा. 'पटाखा' इसी शुक्रवार को रिलीज होगी.

बता दें कि फिल्म की कहानी राजस्थान के लेखक चरण सिंह पथिक की कहानी "दो बहनें" पर आधारित है. फिल्म में सान्या मल्होत्रा, सुनील ग्रोवर, राधिका मदान और विजय राज मुख्य भूमिकाओं में हैं. सान्या मल्होत्रा ने आमिर खान की फिल्म "दंगल" में छोटी ;लेकिन उल्लेखनीय भूमिका की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें