scorecardresearch
 

शम्मी कपूर की पहली सैलरी थी 50 रुपये, टूट गए थे पत्नी की मौत के बाद

बॉलीवुड के अभिनेता रहे शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर 1931 को हुआ था. जन्म के समय उनका नाम शमशेर राज कपूर रखा गया था. शम्मी कपूर बेहतरीन अभिनेता के साथ- साथ एक अच्छे डांसर भी थे.

शम्मी कपूर की फिल्म का एक दृश्य शम्मी कपूर की फिल्म का एक दृश्य

बॉलीवुड के अभिनेता रहे शम्मी कपूर का जन्म 21 अक्टूबर 1931 को हुआ था. जन्म के समय उनका नाम शमशेर राज कपूर रखा गया था. शम्मी कपूर बेहतरीन अभिनेता के साथ- साथ एक अच्छे डांसर भी थे. आज भी लोग उनके गानों पर झूमने लगते हैं. शम्मी कपूर की जिंदगी आसान नहीं रही. उनकी पहली सैलरी महज 50 रुपये थी. हम आपको बता रहे हैं उनकी जिदंगी से जुड़ी कुछ ऐसी बातें जिनके बारे में आप नहीं जानते होंगे. उन्होंने दो शादियां की थीं, लेकिन दूसरी पत्नी से शादी के लिए ऐसी शर्त रखी बॉलीवुड में जिसकी आज भी चर्चा की जाती है.

उनकी पहली पत्नी का नाम गीता बाली था. वो अभिनेत्री थीं. गीता से शम्मी की मुलाकात 1955 में फिल्म 'रंगीन रातें' की शूटिंग के दौरान हुई थी. इसमें शम्मी कपूर लीड रोल में थे, गीता का फिल्म में कैमियो था. इसी दौरान दोनों का प्यार परवान चढ़ा और 4 महीने बाद ही दोनों ने मुंबई के बाणगंगा मंदिर में शादी कर ली. शादी के एक साल बाद 1 जुलाई 1956 को दोनों एक बेटे के पिता बने. उन्होंने अपने बेटे का नाम आदित्य राज कपूर रखा.

शम्मी कपूर के जन्मदिन पर जानिए ये 10 खास बातें

पत्नी की मौत के बाद शम्मी ने छोड़ दिया था खाना-पीना

इसके लगभग 5 साल बाद साल 1961 में दोनों की एक बेटी हुई जिसका नाम कंचन रखा गया. अपनी बेटी के जन्म के लगभग 4 साल बाद साल 1965 में गीता का देहांत हो गया. बताया जाता है कि अपनी पत्नी की मौत के बाद शम्मी कपूर काफी टूट गए थे और उन्होंने खाना पीना छोड़ दिया था. उनके बच्चे छोटे थे इसलिए उनके घरवालों ने उनपर शादी का दबाव बनाना शुरू कर दिया. उनके घरवाले चाहते थे कि वो नीला देवी से शादी करें.

इस तरह दूसरी शादी के लिए तैयार हुए शम्मी

इस बात के लिए शम्मी कपूर बहुत मुश्किल से तैयार हुए और उन्होंने एक रात नीला देवी को फोन किया. शम्मी कपूर के देहांत के बाद एक वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में नीला देवी ने बताया था कि हम दोनों ने रात को 2 बजे बात करनी शुरू की जो सुबह दिन निकलने तक चलती रही. उन्होंने मुझे गीता बाली, अपने बच्चों, अपनी अच्छाईयों और अपनी बुरी बातों के बारे में बताया. नीला ने बताया कि शम्मी कपूर ने मुझे कहा कि हम बाणगंगा मंदिर में आधी रात को वैसे ही शादी करेंगे जैसे उन्होंने साल 1955 में गीता से की थी, लेकिन मैंने उन्हें कहा कि हम परिवार की मौजूदगी में शादी करेंगे. इसके बाद 27 जनवरी 1969 को दोनों ने शादी कर ली.

रणवीर की बहन से शशि कपूर की पोती तक, फिल्मों से दूर हैं ये मेंबर्स

दूसरी शादी के लिए रखी ये शर्त

खबरों के मुताबिक शम्मी ने नीला से शादी करने के लिए एक शर्त रखी थी जो काफी अजीब थी. उन्होंने नीला से कहा कि वो कभी मां नहीं बनेंगी और उनके बच्चों को ही अपने बच्चों की तरह पालेंगी. गीता ने उनकी बात मान ली और वो कभी मां नहीं बनीं. 7 अगस्त 2011 को तबीयत बिगड़ने के बाद शम्मी कपूर को मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां 14 अगस्त 2011 को उनकी मौत हो गई.

इन फिल्मों में किया यादगार रोल

शम्मी कपूर को हिंदी फिल्म इंडस्ट्री का 'एल्विस प्रेस्ली' कहा जाता था. उन्हें 'तुमसा नहीं देखा', 'दिल देकर देखो', 'सिंगापुर', 'जंगली', 'कॉलेज गर्ल', 'प्रोफेसर', 'चाइना टाउन', 'प्यार किया तो डरना क्या', 'कश्मीर की कली', 'जानवर', 'तीसरी मंजिल', 'अंदाज' और 'सच्चाई' जैसी कई फिल्मों में बेहतरीन अभिनय के लिए जाना जाता है. उस जमाने में भारत में इंटरनेट में सबसे ज्यादा माहिर एक्टर सिर्फ शम्मी कपूर हुआ करते थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें