scorecardresearch
 

अब 'न्यूटन' की बारी, ये 5 भारतीय ऑस्कर में मचा चुके हैं धूम

राजकुमार राव की फिल्म 'न्यूटन' को ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया है. फिल्म को भारत की तरफ से बेस्ट फॉरेन फिल्म कैटेगरी के लिए नामित किया गया है. इसके पहले इन 5 भारतीयों को ऑस्कर मिल चुका है.

स्लमडॉग मिलिनेयर का सीन स्लमडॉग मिलिनेयर का सीन

राजकुमार राव की फिल्म 'न्यूटन' को ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया है. फिल्म को भारत की तरफ से बेस्ट फॉरेन फिल्म कैटेगरी के लिए नामित किया गया है. राजकुमार राव ने ट्वीट कर खुद इसकी जानकारी दी.

पहले इन भारतीयों को मिल चुका है ऑस्कर:

बीते सालों में जिन भारतीय फिल्मकारों को ऑस्कर पुरस्कार मिल चुका है उनमें सत्यजीत राय से लेकर ए.आर. रहमान तक का नाम शामिल है.

सबसे पहले 1992 में महान भारतीय फिल्मकार सत्यजीत राय को 'लाइफटाइम अचीवमेंट' ऑस्कर अवॉर्ड से नवाजा गया था. बीमारी की वजह से सत्यजीत रे अवॉर्ड लेने नहीं पहुंच पाए थे, लेकिन हॉस्पिटल बेड से उन्होंने लाइव वीडियो के जरिए स्पीच दी थी. उन्होंने 36 फिल्म, शॉर्ट स्टोरीज और डॉक्यूमेंट्रीज को डायरेक्ट किया है.

इसके बाद भानु अथैया को साल 1982 में आई रिचर्ड एटनबरो की फिल्म 'गांधी' में सर्वश्रेष्ठ कॉस्ट्यूम डिजाइन के लिए ऑस्कर अवॉर्ड मिला था. 2012 में भानु ने कहा था कि वो अपना अवॉर्ड लौटाना चाहती हैं क्योंकि सरकार उन्हें उचित सम्मान नहीं दे रही है और ना ही उनकी ट्रॉफी की देखभाल की कोई व्यवस्था है.

उसी साल म्यूजिक डायरेक्टर रवि शंकर भी नॉमिनेट हुए थे लेकिन वो यह अवॉर्ड जीत नहीं पाए थे.

फिर साल 2009 में फिल्म स्लमडॉग मिलिनेयर के लिए ए.आर. रहमान और गुलजार को सर्वश्रेष्ठ संगीत और सर्वश्रेष्ठ गीत के लिए संयुक्त रूप से ऑस्कर अवॉर्ड दिया गया था.

इसी फिल्म के लिए रेसुल पोक्कुट्टी को सर्वश्रेष्ठ साउंड मिक्सिंग का ऑस्कर अवॉर्ड मिला था.

एआर रहमान को जय हो गाने के लिए बेस्ट ऑरिजनल स्कोर के लिए अवॉर्ड मिला था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें